इस राज्य के मजदूर आसानी से नहीं जा सकेंगे बाहर, पहले लेनी होगी सरकार से अनुमति

Coronavirus महामारी के भारत में दस्तक देने के बाद से मजदूरों का मुद्दा देश भर में गूंजा (Migrant Labourers Required Jharkhand Government's Permission To Go Out) (Jharkhand News) (Dumka News) (Jharkhand Government New Order For Migrant Labourers)...

 

By: Prateek

Published: 05 Jun 2020, 08:33 PM IST

(रांची,दुमका): Coronavirus महामारी के भारत में दस्तक देने के बाद से मजदूरों का मुद्दा देश भर में गूंजा। राजनीतिक दल इन्हें लेकर आरोप—प्रत्यारोप करते रहे और सरकारें इनकी संरक्षक बनने का दावा करती रही। मजदूरों के हितों के संरक्षण की यह धारणा भविष्य में भी जारी रहेगी या नहीं यह तो वक्त बताएगा। पर कईं राज्यों की सरकारों ने इस दिशा में कदम बढ़ाने की शुरुआत की है। इसी दिशा में झारखंड सरकार जो प्रवासी मजदूरों को हर माध्यम से वापस लाने में जुटी है, ने एक नया आदेश दिया है।

 

यह भी पढ़ें: कॉमेडियन Kapil Sharma को याद आई दोस्त Sunil Grover की, मंच पर साथ काम करने की जताई इच्छा


मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने घोषणा की है कि राज्य में जो मजदूर वापस लौटे है वह सरकार से अनुमति लेने के बाद ही काम के लिए बाहर जा सकते हैं। इसके पीछे सरकार ने मजदूर हितों की बात कही है। मुख्यमंत्री का कहना है कि बड़ी संख्या में मजदूरों की वापसी के बाद राज्य श्रमिक वर्ग की अधिक बसावट वाले राज्य के रूप में उभर कर सामने आया है। ऐसे में सरकार सभी प्रवासी श्रमिकों का डाटा तैयार करेगी जिससे भविष्य में उन पर शोषण होता है या उन्हें कोई भी दिक्कत आती है तो सरकार उनकी मदद करेगी।

यह भी पढ़ें: यहां बुखार होने के बाद भगवान हुए क्वारंटाइन! 14 दिन रहेंगे सबसे अलग

 

इस राज्य के मजदूर आसानी से नहीं जा सकेंगे बाहर, पहले लेनी होगी सरकार से अनुमति

सीएम ने यह भी कहा कि सीमावर्ती इलाकों में मजदूरों की बड़ी भूमिका रही है। पहले मजदूरों के आने—जाने पर पता नहीं चल पाता था। लद्दाख जैसे दुर्गम इलाके जहां कई तरह की पाबंदियां होती है, वहां बिना विशेष सहयोग के कोई नहीं जा पता लेकिन जब मजदूर को समस्या होती है तो बड़ी दिक्कत होती है। ऐसे में बाहर जाने वाले मजदूरों की जानकारी रखना आवश्यक है। सीएम ने यह भी कहा कि बाहर जाने वाली महिलाओं के शोषण की ख़बरें भी सामने आई है ऐसे में मजदूर सरकार को जानकारी देने के बाद ही बाहर जा सकेंगे जिससे हर स्थिति में उनकी मदद की जा सके।

यह भी पढ़ें: खाना है बिना बीज का तरबूज तो आइए यहां, मीठा होने के साथ है बड़ा फायदेमंद

गौरतलब है कि इससे पहले उत्तरप्रदेश में भी मजदूरों के लिए ऐसा आदेश जारी किया गया था। लेकिन बाद में इसे वापस ले लिया गया। अब तक प्रदेश में अलग—अलग माध्यमों से लगभग 4 लाख मजदूर वापस आ चुके हैं। अभी भी मजदूरों की वापसी जारी है।

झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned