यहां तो हद, मौत के बाद तीन कंपनियों में बीमा

यहां तो हद, मौत के बाद तीन कंपनियों में बीमा

sidharth shah | Updated: 25 Jun 2018, 11:57:59 AM (IST) Dungarpur, Rajasthan, India

निकटवर्ती खेरवाड़ा में हुआ मामला

भाई को बनाया नोमिनी और वो था जेल में

डूंगरपुर. मौत के बाद बीमा कराने का एक और सनसनीखेज मामला हाल ही सामने आया है। यहां पूर्व में आए तीन मामलों में बीमा राशि उठाने से पहले ही यह खेल उजागर हो गया था। पर, अब सामने आए मामले में मौत के बाद बीमा राशि उठा लेने का मामला सामने आया है। खास यह है कि इस गिरोह ने इस मृत व्यक्ति के नाम पर तीन कंपनियों में बीमा कराया था और तीनों की कंपनियों से बीमा राशि उठा ली है। राजस्थान पत्रिका की ओर से उजागर किए जाने बाद निकटवर्ती खेरवाड़ा कस्बे से यह मामला बतौर शिकायत बजाज अलाइंस कंपनी में दर्ज हुआ है।
विभाग स्तर पर की गई प्रारम्भिक जांच में इसकी पुष्टि भी हो चुकी है। अब इसके तथ्य जुटाएं जा रहे है। अब तक की पड़ताल में सामने आ रहा है कि इस गिरोह के तार गुजरात से जुड़े हुए है और यह लोग जनजाति क्षेत्र की निरक्षरता का फायदा उठा कर टीएसपी क्षेत्र को अपना निशाना बना रहे है।


यह हुआ था मामला
इस मामले में बताया जा रहा है कि खेरवाड़ा तहसील में वर्ष २०१५ में एक व्यक्तिने आत्महत्या की। इसके बाद गुुजरात के कुछ लोगों परिवार के लोगों को गुमराह कर मौत के करीब छह माह बाद उसका बीमा कराया। बीमा में नोमिनी इसके भाई को बनाया। बताया जा रहा है कि जब बीमा किया गया, उस वक्त भाई जेल में था। गुजरात के कुछ लोगों ने भाई के नाम पर गुजरात की ही इंडसइण्ड बैंक में खाता खोला। यह भी सामने आया कि इस मृत व्यक्तिका बीमा बजाज इलाइंस के अलावा बिरला सन लाइफ और स्टार यूनियन बाईची बीमा कंपनी में किया था।

यूं हुआ खुलासा
बैंक का खाता और तीनों कंपनियां गुजरात की थी। बताया जा रहा है कि इस तीनों कंपनियों में करीब २७ लाख का बीमा कराया गया और बीमा राशि बैंक में जमा हुई। यहां से नेफ्ट के जरिए आरोपितों ने राशि निकाल ली। बैंक खाता बीमित व्यक्ति के भाई के नाम पर था। पर, संचालन किसी और के ही हाथ में था। बीमे की राशि उठा लेने के बाद खाते से लेनदेन बंद हो गया तो बैंक की ओर से पत्र व्यवहार और अब तक हुए ट्रांजेशन की डिटेल बैंक खाता धारक के भाई के नाम आई तो मामले सामने आया और इसने यहां एक बीमा कंपनी से सम्पर्क किया। इसके बाद इस मामले का खुलासा हुआ है।

जांच में है
यहां बीमा कंपनी के एक बड़े अधिकारी ने बताया कि इस मामले में शिकायत सामने आई है। जांच कराई जा रही है। प्रकरण मुख्यालय भेजा जा रहा है। बताया जा रहा है गुजरात के कुछ लोग इस धंधे से जुड़े हुए है। इन्होंने इस जनजाति क्षेत्र को निशाने पर ले रखा है। छोटा लालच दिखाकर यह लोग सालों से बड़ा खेल कर रहे है। बीमा, क्लेम और बीमित व्यक्तिअलग-अलग क्षेत्र के होते है। ऐसे में यह पकड़ में भी नहीं आ पाते है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned