पहले दस्तावेजों का होगा सत्यापन, फिर आवंटित होगी स्कूल

sidharth shah

Publish: Jun, 14 2018 05:46:01 PM (IST)

Dungarpur, Rajasthan, India
पहले दस्तावेजों का होगा सत्यापन, फिर आवंटित होगी स्कूल

तय कलेण्डर के अनुसार चलेगी प्रक्रिया
विभाग ने शुरू की तैयारियां

डूंगरपुर. शिक्षक भर्ती 2018 प्रथम लेवल के चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन एवं स्कूल आवंटन को लेकर जिला परिषद् एवं प्रारम्भिक शिक्षा विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी है। विभाग की मंशा है कि विभाग के निर्देशानुसार तय समय में पूरी प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाए। हालांकि, विभाग के सामने सबसे बड़ी चुनौती अभ्यर्थियों की रिकार्ड संख्या है।

पहले होगा दस्तावेज सत्यापन
भर्ती प्रक्रिया के तहत सर्वप्रथम सभी अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन होगा। इसमें अभ्यर्थी के मूल प्रमाण-पत्रों की बारीकी से जांच होगी। यह कार्य जिला परिषद् के नेतृत्व में होगा। इसको लेकर परिषद् ने प्रारम्भिक शिक्षा विभाग से पात्र घोषित किए गए जिलेवार अभ्यर्थियों की सूचियां मंगवा ली हैं। परिषद् को यह कार्य 20 जून से पूर्व करना है।

द्वितीय चरण में होगी स्कूल आवंटित
जिला परिषद् से दस्तावेज सत्यापन के बाद पात्र रहे अभ्यर्थियों की समेकित सूची जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक को सौंपी जाएगी। इन सूचियों के आधार पर शिक्षा विभाग पांच एवं छह जुलाई 2018 को काउंसलिंग प्रक्रिया करेगा। इसमें एक-एक अभ्यर्थी को रिक्त पदों के अनुसार वरीयता बनाकर स्कूल आवंटित की जाएगी। यह समस्त कार्य शिक्षा विभाग के जिम्मे है और इसके लिए विभाग ने जांच अधिकारियों के पैनल बनाने शुरू कर दिए हैं।

कोई भी एक स्कूल करनी होगी पसंद
दस्तावेज सत्यापन के कुछ दिन बाद पदस्थापन के लिए काउंसलिंग होगी। इसमें अभ्यर्थियों को वरीयता अनुसार कक्ष में भेजा जाएगा। यहां दीवार पर रिक्त पद चस्पा किए जाएंगे। अभ्यर्थी को अपनी पसंद की स्कूल बतानी होगी। वहीं, स्कूल भविष्य में अभ्यर्थी को आवंटित होगी। अब तक पदस्थापन शिविरों में विधवाओं, दिव्यांगों, महिलाओं को क्रमश: वरीयता दी गई है। इसके बाद पुरुष अभ्यर्थियों को बुलाया जाता है।

यह करेें अभ्यर्थी

समस्त मूल दस्तावेजों को एक पारदर्शी फाइल में लगाए, जिसमें हर दस्तावेज का अलग फोल्डर हो।
सभी दस्तावेजों की कम से कम पांच-पांच फोटोकॉपी करवा कर सेट बनाकर रखे तथा सभी दस्तावेजों को प्रमाणित करवाए।
शपथ पत्र, घोषणा पत्र ए-4 कागज पर पहले ही बनवा कर रखे। सरकार के निर्देशानुसार शपथ पत्र साधारण कागज पर स्व के हस्ताक्षर के साथ मान्य है। आदेशानुसार कोई भी अधिकारी नोटरी पब्लिक या स्टॉम्प के लिए बाध्य नहीं कर सकता है।
शपथ पत्र की भाषा निर्धारित प्रारुप में होनी जरूरी है।
यह समस्त दस्तावेज सत्यापन के दौरान जरूरी होंगे।

सत्यापन मेें यह लेकर आने होंगे दस्तावेज

मूल आवेदन पत्र
घोषणा-पत्र एवं शपथ-पत्र (निर्धारित प्रारुप में)
10वीं, 12वीं एवं स्नातक की अंकतालिका
बीएसटीसी दोनों वर्षों की अंकतालिका
मूल निवास प्रमाण (ऑनलाइन मान्य)
जाति प्रमाण-पत्र
दिव्यांगता प्रमाण पत्र
विधवा की स्थिति में स्वयं का शपथ पत्र एवं पति की मृत्यु का प्रमाण पत्र
तलाकशुदा होने की स्थिति में न्यायालय निर्णय एवं डिक्री
किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में वंचित किए जाने या नहीं किए जाने संबंधित स्वघोषणा पत्र
विवाह पंजीयन प्रमाण पत्र
उत्कृष्ट खिलाड़ी का प्रमाण पत्र
भूतपूर्व सैनिक संबंधित दस्तावेज
संतान संबंधित शपथ पत्र
विवाह के समय दहेज स्वीकार नहीं करने संबंधित स्वघोषणा पत्र
पहचान संबंधित दस्तावेज (आधार कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक)
रीट 2011, 2012, 2015, 2017 का प्रमाण पत्र
धू्रमपान नहीं करने संबंधित स्वघोषणा पत्र

अधिकारी ने कहा
सरकार के निर्देशानुसार हमने तैयारियां शुरू कर दी है। फिलहाल सत्यापन एवं पदस्थापन के लिए शिविर होगा। हमे पूरी प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश दिए है। अभ्यर्थियों को नियुक्तियां न्यायालय के निर्देश पर मिलेगी।

- मणिलाल छगण, जिला शिक्षा अधिकारी, प्रारम्भिक

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned