scriptcovid:19 kuwait rtpcr report news | आरटीपीसीआर की अनिवार्यता हटी, प्रवासियों की झंझट मिटी | Patrika News

आरटीपीसीआर की अनिवार्यता हटी, प्रवासियों की झंझट मिटी

कुवैत से आने व जाने के लिए प्रवासियों को नहीं करवानी पड़ेगी अब कोविड-जांच, कुवैत में पहुंचते ही कर सकेंगे कार्य

डूंगरपुर

Updated: March 04, 2022 11:23:14 am

डूंगरपुर. कोविड-19 संक्रमण कम पडऩे का असर सात समंदर पार रोजगार के लिए जाने वाले लोगों पर भी नजर आ रहा है। अब कुवैत जाने वाले प्रवासियों को आरटीपीसीआर की रिपोर्ट करवाने से राहत मिल गई है। प्रवासियों को अब कुवैत पहुंचने पर आरटीपीसीआर रिपोर्ट की जरूरत नहीं है। अब सीधे कुवैत में प्रवेश लेकर तुरंत उसी दिन से रोजगार शुरू कर सकते हैं।

covid-19
covid-19

पहले यह थे प्रावधान
कोरोना महामारी के दौरान २०२० में सभी देशों ने अपनी हवाई सेवाएं बंद कर दी थी। जब हवाई यात्रा को वापस शुरू किया, तो सभी देशों ने हवाई सफर करने के लिए ७२ घंटे से पहले की आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर दी थी। कुवैत जाने एवं आने के लिए सबसे पहले आरटीपीसीआर रिपोर्ट करवानी पड़ती थी। इस दौरान प्रवासी को कहीं भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं थी। रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही प्रवासी को कुवैत में प्रवेश मिलता था या कुवैत से स्वदेश आ सकता था। लेकिन, रिपोर्ट पॉजीटिव आने पर उसको अपने कमरे में ही १५ दिन होम क्वारंटीन रहना पड़ता था। साथ ही कुवैत सरकार को प्रति घंटे में एक बार अपनी लोकेशन के आधार पर फोटो अपलोड करना पड़ता था। हालांकि रिपोर्ट छह घंटे में प्रवासी को उपलब्ध करवा दी जाती थी। लेकिन, कभी-कभी दो से तीन दिन भी हो जाते थे। इस दौरान प्रवासी कुवैत में रोजगार नहीं कर पाता था, तो उससे उसको काफी अधिक आर्थिक हानि होती थी।

बाहर निकलते ही होती थी कार्रवाई
रिपोर्ट आने के पूर्व यदि प्रवासी के कमरे से बाहर घुमते पाए जाने पर कुवैत पुलिस की ओर से कार्रवाई की जाती थी। कार्रवाई के दौरान प्रवासी को गिरफ्तार कर उस पर हजारों रुपए का जुर्माना लगाया जाता था।

यह किया बदलाव
कुवैत सरकार ने २६ फरवरी को कोरोना महामारी के नियमों में बदलाव किया है। नियमों में कुवैत से अपने देश जाने व आने वाले प्रवासियों को आरटीपीसीआर रिपोर्ट नहीं करवानी होगी। प्रवासी अब कुवैत आने के साथ ही अपने काम पर जा सकते है।

हवाई यात्रा हुई महंगी
यूक्रेन व रूस में चल रहे तनाव का असर हवाई यात्रा पर पड़ रहा है। हवाई यात्रा की दरें लगभग तीन से चार हजार रुपए अधिक हो गई हैैं। पूर्व में अहमदाबाद से कुवैत जाने का खर्च 15 रुपए था। पर, अब 17 से 21 हजार रुपए तक हो गया है।

वागड़ के इन जिलों से जाते हैं प्रवासी
वागड़ के अधिकांश लोग कुवैत में कार्यरत है। कुवैत में डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा, सीमवाड़ा, आसपुर व बांसवाड़ा जिले के परतापुर, गढ़ी, बागीदौरा, आनन्दपुरी सहित आसपास के गांवों से बड़ी संख्या में प्रवासी खाड़ी देशों में रोजगाररत हैं।

यह समस्या भी खत्म
प्रवासी को अब आरटीपीसीआर रिपोर्ट के साथ ऑनलाइन कई दस्तावेज भी अपलोड करने पड़ते थे। इससे में भी प्रवासी को काफी समस्या आती थी। प्रवासियों को मोबाइल लेकर इधर-उधर दौडऩा पड़ता था। लेकिन, कुवैत में प्रवासी को इस समस्या से भी निजात मिली है। कुवैत में यह सभी नियम भी हटा दिए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते होकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजह16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर आर प्रज्ञानानंद ने रचा इतिहास, चेसेबल मास्टर्स के फाइनल में पहुँचने वाले पहले भारतीयलोकसभा चुनाव वाला Yogi का बजट, धर्म के साथ रोजगार, युवा, किसान, महिलाओं को जोड़ेगी सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.