फिर सामने आई बड़ी चूक, डूंगरपुर में सेम्पलिंग करा टेंकर में बैठ चित्तौड़ पहुंचा कोरोना पॉजिटिव 108 एम्बुलेंस चालक

कोरोना के प्रकोप के बीच स्वास्थ्य महकमे में एक और बड़ी चूक सामने आई। शुक्रवार को जारी सूची में जो 108 कार्मिक संक्रमित चिन्हित हुआ, वह मेडिकल कॉलेज में सेम्पलिंग के बाद वहां से निकल गया था और टेंकर में बैठकर चित्तौड़गढ़ पहुंच गया है।

By: kamlesh

Published: 22 May 2020, 09:02 PM IST

डूंगरपुर। कोरोना के प्रकोप के बीच स्वास्थ्य महकमे में एक और बड़ी चूक सामने आई। शुक्रवार को जारी सूची में जो 108 कार्मिक संक्रमित चिन्हित हुआ, वह मेडिकल कॉलेज में सेम्पलिंग के बाद वहां से निकल गया था और टेंकर में बैठकर चित्तौड़गढ़ पहुंच गया है।

जैसे ही शुक्रवार को उसके पॉजिटिव होने की भनक लगी स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। अधिकारी उसकी लोकेशन ट्रेस करने में जुट गए, लेकिन उसका मोबाइल स्वीच ऑफ आ रहा था। काफी मशक्कत के बाद उससे संपर्क हो सका। चालक के चित्तौडग़ढ़ जिले में होने की पुष्टि होने पर वहां के प्रशासन और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सूचना दी गई। इस पर टीमों ने उसे पकड़ कर कोविड अस्पताल में भर्ती कर लिया है।

मूलत: झालावाड़ का
सीएमएचओ डा. महेंद्र परमार ने बताया कि एम्बुलेंस चालक मूलत: झालावाड़ जिले का है। पॉजिटिव केस को अस्पताल लाने के लिए अधिगृहित 108 एम्बुलेंस पर वह चालक के रूप में नियुक्त था। दो दिन पूर्व जिला अस्पताल के कोविड हॉस्पीटल में उसकी सेम्पलिंग हुई थी।

पहले भी पॉजिटिव को भेज दिया था घर
कोविड मरीजों को लेकर लापरवाही का एक सप्ताह में दूसरा मामला है। कुछ दिन पूर्व धंबोला क्षेत्र के एक पॉजिटिव मरीज को एक दिन पूर्व की नेगेटिव रिपोर्ट के आधार पर कोविड हॉस्पीटल के आइसोलेशन से डिस्चार्ज कर घर भेज दिया था। बाद में भनक लगने पर उसे वापस लाकर भर्ती किया था।

coronavirus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned