गुलाब-जामुन में पड़ी खटाई, पड़ी-पड़ी फट गई रस-मलाई

लॉकडाउन की अवधि बढ़ी तो नमकीन पर भी होगी खराब, कोरोना का असर

डूंगरपुर. मिष्ठान की दुकान के पास से गुजरते ही हर किसी के मुंह से लार टपक पड़ती है। आखिर टपके भी क्यों नहीं। रस से भरी रस-मलाई, तो चाशनी से टपकते गुलाब-जामुन को देख किसका मन नहीं पिघलता है। फिर नमकीन के शौकिनों के लिए तरह-तरह की मिक्स नमकीन तो फूलवड़ी और हिंग-लहसुन सेव की तो बात ही क्या...। लेकिन, लॉक-डाउन ने महंगी मिठाइयों और नमकीनों से भरे मिष्ठान भण्डारों के संचालकों को दोहरी मार झेलने पर मजबूर कर दिया है। एक तरफ सरकार की ओर से एहतियातन कराए गए बाजार बंद के चलते उनका धंधा चौपट हो गया है। वहीं, दूसरी तरफ दुकानों में भारी मात्रा में पड़ी तरह-तरह की मिठाइयों एवं नमकीन के खराब होने का भी खतरा मण्डराने लगा है। लॉक-डाउन की फिलहाल अंतिम तिथि 13 अप्रेल तक है। ऐसे में उनको काफी आर्थिक क्षति होनी तय है।

22 से बंद बाजार
कोरोना संक्रमण के चलते शहर सहित जिले भर के बाजार जनता-कफ्र्यू के दिन 22 मार्च से बंद है। इसके अगले दिन से ही प्रदेश सरकार ने लॉक-डाउन की घोषणा कर दी थी। इससे मिष्ठान भण्डार-नमकीन की दुकान सहित समस्त बाजार बंद है। लॉक-डाउन के दरम्यान आवश्यक सेवाओं के तहत दवा, किराणा, सब्जी आदि कुछ प्रतिष्ठान तो खुल गए। पर, मिष्ठान भण्डारों के दुकाने बंद हैं। स्थितियां यह है कि शहर सहित जिले भर के मिष्ठान भण्डारों की दुकानों में तरह-तरह की बेसन, मावे एवं ड्राय फू्रट्स की मिठाइयां, तो नमकीन भरी पड़ी है। सामान खपाने के लिए वह दुकान पर भी आना चाहे, तो लॉक-डाउन की वजह से घरों में कैद होकर नुकसान की भरपाई करने को मजबूर है।

यह कहते हैं विक्रेता
. दुकान में करीब 40 से 50 किलो अलग-अलग नमकीन भरी पड़ी है। दुकान में गुलाब-जामुन और थोड़ी मिठाई भी है। वह तो खराब हो ही गई है। दोहरी मार झेल रहे हैं। अगर लॉक-डाउन की तारीख बढी, तो नुकसान काफी हो जाएगा। - सत्यनारायण शर्मा
. कोरोना संक्रमण के चलते बंद भी जरूरी है। हमारी सुरक्षा के लिए ही बंद है। दुकान बंद के दौरान केक और कुछ मिठाइयां थी वह कारीगरों को बांट दी। वहीं, ब्रेड पैकेट्स भी थे। वह एक किराणा की दुकान वाले को दे दी। - महेश कामरा
कोरोना संक्रमण के चलते मिठाइयां बनानी थोड़ी कम ही कर दी थी। जैसे ही बाजार बंद की सूचना आई मिठाइयां गाय को डाल दी। काफी पैकड नमकीन पड़ी है।
- बाबूसिंह

milan Kumar sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned