आरोपी जेल से पहले जाएगा हॉस्पिटल

डूंगरपुर.
वैश्विक महामारी कोविड-१९ के संक्रमण को रोकने के लिए हर कदम पर सावधानी बरती जा रही है। इसी कड़ी में अब आरोपियों को भी जिला कारागृह से पहले अस्पताल भेज कर कोविड टेस्ट कराए जाएंगे। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर आरोपी को जेल भेजा जाएगा। जेल में आरोपी को पुराने बंदियों से अलग क्वॉरंटीन किया जाएगा तथा उसकी निरंतर चिकित्सा जांच भी होगी।

By: Harmesh Tailor

Published: 28 May 2020, 06:48 PM IST

आरोपी जेल से पहले जाएगा हॉस्पिटल
- नए बन्दियों की जेल जाने से पहले होगी कोरोना जांच
डूंगरपुर.
वैश्विक महामारी कोविड-१९ के संक्रमण को रोकने के लिए हर कदम पर सावधानी बरती जा रही है। इसी कड़ी में अब आरोपियों को भी जिला कारागृह से पहले अस्पताल भेज कर कोविड टेस्ट कराए जाएंगे। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर आरोपी को जेल भेजा जाएगा। जेल में आरोपी को पुराने बंदियों से अलग क्वॉरंटीन किया जाएगा तथा उसकी निरंतर चिकित्सा जांच भी होगी।
राजस्थान उच्च न्यायालय खण्ड जयपुर के आदेश अनुसार पुलिस की ओर गिरफ्तार आरोपी को न्यायालय में पेश किया जाएगा। यदि वहां से आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश होते हैं तो पहले उसे कोविड टेस्ट के लिए चिकित्सालय ले जाया जाएगा। आरोपी को रिपोर्ट आने तक चिकित्सालय में पुलिस निगरानी में भर्ती रखा जाएगा। जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने पर आरोपी को जेल में दूसरे बंदियों से अलग २१ दिन तक क्वॉरंटीन रखा जाएगा। इस बीच यदि उसकी जमानत हो जाती है तो भी उसे १४ दिन होम क्वॉरंटीन के लिए पाबंद किया जाएगा।
चार आरोपी जेल में क्वॉरंटीन
लॉकडाउन के दौरान पुलिस की ओर से न्यायालय में पेश कर चार आरोपियों को जिला कारागृह में भेजा गया है। आरोपियों की चिकित्सालय से कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आने पर कारागृह में क्वॉरंटीन किया गया है। जेल में वर्तमान में तकरीबन १०० बंदी हैं। वहीं संक्रमण की रोकथाम के लिए कारागृह स्टाफ की भी जांच कराई गई है।
पुलिस को यह रखी होगी सावधानी
- किसी भी आरोपी को गिरफ्तार करते समय मास्क और टोपी पहनाई जाएगी।
- आरोपी की जांच के दौरान पुलिस कर्मी को मुंह पर मास्क व हाथों में दस्ताने पहने अनिवार्य
. आरोपी को लॅाकअप में रखने से पहले और बाद में लॉकअप को सेनेटाइज करना होगा।
लॅाकअप में उपयोग ली जाने वाली कम्बलों को धुलवाया जाएगा।
. गिरफ्तार किए आरोपी को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से न्यायालय में पेश किया जाए।

इनका कहना
कोविड को लेकर जेल में पूरी सुरक्षा रखी जा रही है। कारागृह को समय-समय पर सेनेटाइज किया जा रहा है। बंदियों को साबून से हाथ भी धुलवाए जा रहे हैं।
मुकेश कुमार गायरी, जेलर, जिला कारागृह डूंगरपुर

Harmesh Tailor Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned