scriptफर्जीवाड़ा : विदेश में नौकरी को लेकर फंसे संभाग के 20 युवा | Dungarpur News : Cyber frauds target youths of Dungarpur and Banswara for oversees jobs | Patrika News
डूंगरपुर

फर्जीवाड़ा : विदेश में नौकरी को लेकर फंसे संभाग के 20 युवा

पूरा खेल मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट को लेकर हुआ। जालसाजों के गिरोह ने विदेश जाने के इच्छुक और महज इस सर्टिफिकेट के चक्कर में अटक रहे युवाओं से संपर्क किया।

डूंगरपुरJul 11, 2024 / 05:54 pm

जमील खान

Dungarpur News : बांसवाड़ा/डूंगरपुर. कुवैत और खाड़ी देशों में नौकरी की खातिर दस्तावेज बनाने-बनवाने में केरल के चिकित्सा संस्थान के नाम पर फर्जीवाड़ा सामने आया है। वेबसाइट हैकिंग के जरिए फर्जी सर्टिफिकेट जारी करने पर केरल की साइबर थाना पुलिस चार राज्यों के 28 जनों की सूची बनाकर पीछे लग गई है। इससे बांसवाड़ा संभाग के 20 युवा संकट में हैं। सूत्रों के अनुसार पूरा खेल मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट को लेकर हुआ। जालसाजों के गिरोह ने विदेश जाने के इच्छुक और महज इस सर्टिफिकेट के चक्कर में अटक रहे युवाओं से संपर्क किया।
फिर मुंहमांगे पैसे लेकर उन्हें जाली सर्टिफिकेट थमाना शुरू कर दिया। इसकी जानकारी मलप्पुर जिले के आईबीएनयू सीना मेडिकल सेंटर को जनवरी में हुई, जब उसके प्रबंधक ने उनके सेंटर के नाम के फिटनेस सर्टिफिकेट फर्जी जारी होने का दावा किया। इसके लिए जालसाजों ने सेंटर की वेबसाइट हैक कर दी और फर्जी यूजर, पासवर्ड बनाकर उस पर फर्जी सर्टिफिकेट बनाते हुए अपलोड कर धोखाधड़ी की।
इस पर मलप्पुरा साइबर पुलिस ने जालसाजी और धोखाधड़ी के साथ आईटी एक्ट के अपराध में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की। इसके बाद प्रकरण में फर्जीवाड़ा-करने-कराने वाले एक के बाद एक, कई शातिरों के नाम आए और अब 28 जने चिह्नित कर संबंधित राज्यों की जिला पुलिस को आरोपियों की तस्दीक के लिए भेजे गए हैं। इनमें बांसवाड़ा के सभी आरोपी गढ़ी, अरथूना और सदर इलाकों के हैं।
ट्रावेल्स संचालक को ले जा चुकी है गढ़ी पुलिस
गढ़ी सीआई विक्रमसिंह ने बताया कि जालसाजी के केस में केरल पुलिस ने आकर मदद मांगी थी। उनके प्रकरण में मूल कलिंजरा हाल परतापुर चौक के सामने निवासी ऋतिक ट्रावेल्स के नरेश जैन को मलप्पुर साइबर पुलिस ले जा चुकी है। इधर, सदर थानाधिकारी दिलीपसिंह ने केरल से किसी टीम के आने की जानकारी से इनकार किया।
डूंगरपुर के सर्वाधिक, प्रतापगढ़ के भी दो
केरल पुलिस के अनुसार मूल प्रकरण के आरोपियों के अलावा बनी 28 युवाओं की फेहरिस्त में डूंगरपुर जिले के 11, बांसवाड़ा जिले के 7 और प्रतापगढ़ जिले के 2 जने हैं। इनके साथ राजस्थान के झुंझुनूं और सीकर जिले के एक-एक, गुजरात के अहमदाबद, वलसाड़, साबरकांठा और दाहोद वहीं यूपी के गोरखपुर और लखनऊ से एक-एक युवा शामिल है।

Hindi News/ Dungarpur / फर्जीवाड़ा : विदेश में नौकरी को लेकर फंसे संभाग के 20 युवा

ट्रेंडिंग वीडियो