खुद का बाल विवाह रोकने की बेटी ने लगाई गुहार, लेकिन एक साल तक किसी ने नहीं सुना, अब खुली विभाग की आंखें

डूंगरपुर : संपर्क पोर्टल पर जिले की एक बेटी से जताई थी आगे पढऩे की इच्छा और कम उम्र में शादी रुकने के लिए की दर्ज कराई थी शिकायत

By: Ashish vajpayee

Published: 11 Sep 2017, 06:39 PM IST

 डूंगरपुर. कम उम्र में शादी होने, ससुराल पक्ष की ओर से गौना करने का दबाव बनाने के बीच पढ़ाई जारी रखने की इच्छुक किशोरी ने एक साल पहले संपर्क पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की मुहिम के बावजूद अधिकारी इस गुहार को अनसुना करते रहे। इतना ही नहीं महिला एवं बाल विकास विभाग को आवंटित इसे शिकायत से खुद विभाग उपनिदेशक ही अनभिज्ञ हैं। लापरवाही की यह पराकाष्ठा संसदीय सचिव भीमाभाई की अध्यक्षता में सोमवार को ईडीपी सभागार में संपर्क पोर्टल शिकायतों की समीक्षा के दौरान उजागर हुई।

यह है मामला
आसपुर उपखंड के पूंजपुर क्षेत्र की एक किशोरी ने संपर्क पोर्टल पर एक साल पहले शिकायत दर्ज कराई। इसमें उसने साफ शब्दों में लिखा है कि उसकी कम उम्र में शादी कराई दी है, वह इससे राजी नहीं है। ससुराल वाले उसे साथ ले जाने के लिए दबाव बना रहे हैं। जबकि वह और पढऩा चाहती है। पोर्टल से यह प्रकरण महिला एवं बाल विकास विभाग तथा महिला अभिकरण को आवंटित किया गया। बैठक में कलक्टर राजेंद्र भट्ट ने जैसे ही उपनिदेशक से इस प्रकरण के बारे में पूछा तो वे पूर्णतया अनभिज्ञता जताते हुए कहने लगीं कि ‘कहां की बाई है यह...’ इससे सदन में हंसी फूट पड़ी।

बगले झांकते रहे अफसर
बैठक में कलक्टर ने एक साल से लंबित 143 प्रकरणों का एक-एक करने के वाचन किया। इनमें से अधिकांश प्रकरण ऐसे थे, जो स्पष्ट जवाब लिखने मात्र से ही निस्तारण हो जाते हैं, लेकिन अफसरों की सुस्ती के चलते ही लंबित हैं। कलक्टर के पूछने पर ज्यादातर अधिकारी बगले झांकते रहे। कलक्टर ने एडीएम विनय पाठक व एसडीएम दीपक मेहता से लंबित प्रकरणों पर जल्द से जल्द कार्रवाई कराने के निर्देश दिए।

राहत 32 फीसदी, निरस्त 68 प्रतिशत
संपर्क पोर्टल पर दर्ज अधिकांश शिकायतों का निस्तारण निरस्तीकरण के तौर पर ही हो रहा है। जिले में निस्तारित कुल 37235 में से मात्र 12014 (32.17 फीसदी) में ही शिकायतकर्ता को राहत मिली है, शेष 25332 प्रकरण (67.83 प्रतिशत) रिजेक्ट कर दिए गए हैं।

शिकायतों का गणित
38235 दर्ज हुई हैं जनवरी 2014 से अब तक संपर्क पर
37346 का हुआ है निस्तारण
889 लंबित
143 एक साल से अधिक पुरानी
98 छह माह से लंबित

Ashish vajpayee
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned