अहंकार ही मनुष्य को सद्कर्म से कर रहा है दूर’

सद्कार्यों में आस्था व विश्वास ही भगवद् भक्ति

By: sidharth shah

Published: 07 Jun 2018, 07:16 PM IST

आसपुर. धाणीटाड़ा गांव में चल रहे भकमेश्वर महादेव मंदिर निर्माण व गोरक्षार्थ श्रीमद् भागवत कथा एवं दिव्य ज्ञान गंगा महोत्सव में बुधवार को वामन अवतार व राजा बली आदि प्रसंगों के साथ भगवान नारायण का गुणगान किया। व्यास पीठ से कथावाचक शास्त्री कान्ति महाराज ने कहा कि संसार के समस्त श्रेष्ठ कार्य धर्म एवं बुरे कर्म अधर्म की श्रेणी में है। वहीं, सद्कार्यों में आस्था व विश्वास ही भगवद् भक्ति है। केवल भौतिक संसाधनों का अहंकार ही मनुष्य को सद्कर्म से दूर कर मोक्ष के मार्ग से भटका रहा है। मन में लोभ एवं अहंकार का समावेश होने से मानव अपना लक्ष्य बिसरा रहा है। क्षमाशीलता के अभाव में मनुष्य अपने स्वभाव से स्वयं एवं उनसे जुड़े लोगों को परेशान करने का आदी बन रहा है। कई बार क्रोध में आकर मनुष्य विवेक से विमुख हो जाता है। क्रोध पड़ौसी के घर में अग्नि लगाकर अपना छप्पर जलाने के समान है।

ज्ञानगंगा सत्संग मंडल आसपुर के संयोजक देवराम मेहता ने ‘अगर तुम मिल जाओ प्रभुजी जमाना छोड़ देंगे हम’ आदि भक्तिगीत से माहौल भक्तिमय बनाया। कथा के दौरान संगीतकार देवीलाल डांगी राजसमंद, पंकज, गमीरसिंह एवं उदयलाल रमडावत गोल एवं दल ने जब कोई नहीं आता मेरे राम आते है’ आदि भजनों व हरिकीर्तन के साथ पाण्डाल के अंतिम छोर तक तालियां बजती रही। लालाभाई मालवा ने वामन अवतार की सुंदर झांकी प्रस्तुत की। कमलगर महाराज नवाडेरा भी शामिल हुए। मुख्य यजमान संजूभाई बंजारा ने पूजन विधान किया। पंडित मुकेश चौबीसा व कमलेश चौबीसा ने भागवत पारायण एवं विधान पूजन किया। स्वागत शंकरलाल मीणा व पाचियाभाई मीणा ने किया। गुरुवार को भक्त प्रहलाद एवं नृसिंह अवतार प्रसंग की झांकी के साथ कथावाचन होगा।

भागवत कथा
पूंजपुर. पुरुषोत्तम मास के तहत गांवों में विविध अनुष्ठानों एवं कथाओं का आयोजन चरम पर है। मोवाई के रामेश्वर मन्दिर में चल रही भागवत कथा में कृष्ण रुकमणि विवाह के दौरान भक्त झूम उठे। कथावाचक पंकज उपाध्याय ने कहा कि मानव जीवन में तप व साधना होनी जरूरी है। बिना भक्ति से भगवान नहीं मिलते है। सच्चे मन से भक्ति की जाए, तो भगवान के दर्शन अवश्य होते हैं। इसी तरह पूंजपुर में चल रही भागवत कथा में कथावाचक भूपेंद्र भट्ट ने कथा का महत्व बताया। कथा स्थल पर भक्तों ने श्रीराम, जय राम, राधे-राधे जप किया।

sidharth shah Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned