न डरी, न टूटी, डट कर लड़ी, गिर गई, पर नहीं छोड़ी चेन, भागे चेन स्नेचर...

आधे घंटे में ही चोरों को पकडऩे में निभाई अहम भूमिका

By: sidharth shah

Published: 16 May 2018, 11:35 PM IST

डूंगरपुर. उदयपुरा के समीप दुपहिया वाहन पर अपने भाई के साथ आ रही एक महिला के गले से चेन खींचने का प्रयास महिला की सजगता से विफल हो गया। दो बार महिला के गले में झपट्टा मारा। असंतुलित होकर चलते वाहन से गिर गई। पर, इसने चेन नहीं छोड़ी। महिला की हिम्मत देखकर स्नेचर भाग छूटे। यहीं नहीं घटना के आधे घंटे बाद ही चोटिल होने के बावजूद महिला ने आरोपितों को पकडऩे में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।


डूंगरपुर सोनिया चौक निवासी हेमलता पत्नी पारस जैन अपने पीहर भेहणा गांव से बुधवार दोपहर १२ बजे अपने भाई राजेश के साथ दुपहिया वाहन से डूंगरपुर आ रही थी। इसके पीछे ही उसके पिता गोवर्धनलाल जैन उसके दो बच्चे को लेकर अन्य बाइक से आ रहे थे। उदयपुरा के समीप यकायक पीछे से एक पल्सर बाइक आई। पीछे बैठे युवक ने महिला के गले में पहनी चेन पर झपट्टा मारा। महिला ने सजग होकर चेन पकड़ ली। इस पर दोबारा झपट्टा मारा। इससे चेन टूट गई पर उसने छोड़ी नहीं। हेमलता असंतुलित होकर नीचे गिर गई, पर चेन नहीं छोड़ी। इसी दौरान पीछे आ रहे उसके पिता भी पहुंच गए और आस-पास के लोग भी मौके की ओर दौड़े। आरोपी शहर की ओर सरपट भाग गए। लोगों ने पुलिस को सूचना दी।


आधे घंटे में पकड़वाया
समीप सिन्टेंक्स चौराहे पर ही हेमलता के चाचा प्रकाश की दुकान है। इसे तत्काल मौके पर बुलाया। प्रकाश पांच मिनट में ही कार लेकर घटनास्थल पहुंच गया और चोटिल हेमलता को लेकर चिकित्सालय निकले। साबेला बाइपास के हॉस्पीटल मोड तक पहुंचे ही थे कि हेमलता को दोनों चेन स्नेचर आगे बाइक पर जाते दिख गए। इसी दरम्यान सामने से मोटरसाइकिल पर गश्त कर रही चार्ली टीम के दो जवान दिखे तो प्रकाश ने तेजी से कार चलाकर आरोपितों की पल्सर बाइक के आगे खड़ी कर दी। प्रकाश और जख्मी हेमलता चिल्लाते हुए बाइक सवार की ओर दौड़े। महिला को देख दोनों आरोपी समझ गए और भागने लगे तब तक पुलिसकर्मी शैलेष और राजेश परमार आरोपितों पर झपटे और सबने मिलकर उन्हें दबोच लिया। दोनों को कोतवाली जाकर पूछताछ की जा रही है।

इनको पकड़ों, इलाज तो होता रहेगा
हेमलता की दिलेरी इतनी थी कि आरोपितों को देखते ही वह अपने जख्म भूल गई। पुलिस और अपने चाचा के साथ ही इनको पकडऩे में लग गई। इसको जख्मी होने का हवाला देकर कार में बैठने को बोला तो कहा कि जख्म तो ठीक हो जाएंगे। इनको पहले पकड़ो।


गुजरात के हैं युवा आरोपी
थानाधिकारी रामसुमेर मीणा ने बताया कि दोनों आरोपी मुस्तफा पुत्र अब्दुल कादर व मोईन खान पुत्र हबीब खान मकरानी विजयनगर गुजरात के है। यह दोनों ही २१ बरस के है। इनसे पूछताछ जारी है। साथ ही एक दल को उनके गृहक्षेत्र की ओर रवाना किया है। वहां से उनका आपराधिक रिकार्ड मंगाया जा रहा है। इस्तेमाल की जा रही मोटसाइकिल भी संदिग्ध नजर आ रही है। इसके पीछे के नंबर प्लेट नहीं है और आगे गुजरात के नंबरों की प्लेट भी आधी टूटी है।


कहां हो रही जांच
जगह-जगह पुलिस की नाकाबंदी है। वाहनों की जांच और चालान का दावा किया जा रहा है। इसके बावजूद यह गुजरात से आए। वाहन में नंबर प्लेट नहीं थी। पर, कहीं किसी की निगाह में नहीं आए। बेखौफ इतने कि एक असफल वारदात के बाद दूसरे शिकार की तलाश भी शहर में शुरू कर दी थी। पकड़े जाने पर बोले कि काम की तलाश में आए हैं।

sidharth shah Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned