रोजगार के लिए युवक गया था मुबंई, अब संदिग्ध हालात में मौत

भेमई के युवक की मुंबई में मृत्यु

By:

Published: 24 Jul 2018, 08:18 PM IST

भेमई. ग्राम पंचायत भेमई के राजस्व गांव हिण्डोलिया से रोजगार के लिए मुंबई गए एक युवक की वहां संदिग्ध हालात में मृत्यु हो गई। उसका शव मंगलवार को गांव लाने पर परिजनों ने उसे काम पर ले जाने व्यक्ति पर आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। पुलिस ने समझाइश की।
जानकारी के अनुसार भेमई निवासी कचरू पुत्र धुलिया जोगी मुंबई के मलाड क्षेत्र में किराए पर केन्टिन चलाता है। करीब 20 दिन पहले कचरू हिण्डोलिया निवासी दिलीप (१८) पुत्र मोहन बारिया को अपने केन्टिन पर काम करने के लिए मुंबई ले गया। वहां तीन दिन पहले दिलीप की अचानक तबीयत बिगड़ गई। अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। पोस्टमार्टम सहित अन्य कार्रवाई के बाद मंगलवार सुबह उसका शव गांव पहुंचा। इससे पहले ही बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए। सूचना पर चीतरी थानाधिकारी अजयसिंह राव भी मय जाप्ता पहुंचे। शव रखी एम्बुलेंस आते ही लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। परिजनों ने मृत्यु के हालातों पर भी संदेह जताते हुए रोष जताया। पुलिस तथा गांव के मौतबिरों ने समझाइश की।


शव घर आंगन में रखने पर आमादा
मृतक के परिजन शव को कचरू जोगी के घर आंगन में रखने पर आमादा हो गए। पुलिस ने समझाइश कर शव को हिण्डोलिया भेजा। इसके बाद भी लोग काफी देर तक शव एम्बुलेंस से उतारने को तैयार नहीं हुए। दोपहर तक समझाइश का दौर चला। वहीं दोनों पक्षों के बीच समझौता वार्ता भी हुई। दोपहर बाद परिजन शव का अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हुए।


पिता भी करते थे उसी केन्टिन में काम
मृतक दिलीप के पिता मोहन भी पूर्व में कचरू के ही केन्टिन में काम करते थे। पुरानी पहचान के कारण ही कचरू दिलीप को अपने साथ ले गया था। मृतक अपने परिवार का सबसे बड़ा बेटा था तथा परिवार के भरण पोषण की जिम्मेदारी भी उसी पर थी। उसके एक भाई व बहन भी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned