script0 to 80 percent loss in 54 hectares of 35 farmers due to storm | ऐसा क्या हुआ कि... चंद मिनटों में ही 35 किसानों के 40 से 80 फीसदी केले और पपीते की फसल हो गई तबाह | Patrika News

ऐसा क्या हुआ कि... चंद मिनटों में ही 35 किसानों के 40 से 80 फीसदी केले और पपीते की फसल हो गई तबाह

तेज अंधड़ में धमधा के 18 गांव के 35 किसानों के 54 हेक्टेयर की 40 से 80 फीसदी केले और पपीते की फसल चंद मिनटों में ही तबाह हो गई। उद्यानिकी विभाग के मैदानी अमले के सर्वे में इसकी पुष्टि हुई है। धमधा में अधंड़ से तबाह हुए केले और पपीते की फसल का जायजा लेने उद्यानिकी विभाग के डायरेक्टर माथेश्वर वी खेतों में पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों के साथ नुकसान का जायजा लिया और किसानों को नियमानुसार बीमा भुगतान व मुआवजा का भरोसा दिलाया। इधर मैदानी अमले ने नुकसान के सर्वे की रिपोर्ट भी अफसरों को सौंप दी।

दुर्ग

Published: May 20, 2022 08:40:51 pm

15 मई को मौसम में बदलाव के साथ जिले के कई हिस्सों में अंधड़ की स्थिति बनी थी। अंधड़ के साथ कई हिस्सों में बारिश भी हुई थी। अंधड़ ने सर्वाधिक नुकसान धमधा के गांवों में पहुंचाया। अंधड़ के कारण धमधा के कई गांवों में 50 फीसदी से ज्यादा केले और पपीते के पौधे जमीन पर गिर गए। इससे किसानों को कम से कम 50 फीसदी नुकसान की आशंका जाहिर की जा रही थी। पत्रिका ने अंधड़ से उपजे हालात और नुकसान की स्थिति को लेकर विस्तार से समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद उद्यानिकी विभाग के डायरेक्टर ने गुरुवार को यहां पहुंचकर वस्तुस्थिति का जायजा लिया और अफसरों को बीमा भुगतान और मुआवजा के लिए जरूरी कार्रवाई के निर्देश दिए।
ऐसा क्या हुआ कि... चंद मिनटों में ही 35 किसानों के 40 से 80 फीसदी केले और पपीते की फसल हो गई तबाह
अंधड़ में गिर गए केले के पौधे

इन गांवों में फसल को नुकसान
नवांगांव, बिरोदा, जाताघर्रा, परसुली, घसरा, डंगनिया, नंदेली, नंदवाय, रूहा, धमधा, करेली, खपरी, परसबोड़, बिरझापुर, बिरेझर, परोड़ा, हदसा, सुखरीकला।


40 से 80 फीसदी नुकसान
उद्यानिकी विभाग के सर्वे में 18 गांवों के 35 नुकसानों के फसल को नुकसान सामने आया है। सर्वे के मुताबिक इन किसानों को 40 से 80 फीसदी तक नुकसान उठाना पड़ा है। केले, पपीते व तरबूज के साथ सब्जियों व उनके कृषि संबंधी अधोसंरचनाओं को भी नुकसान पहुंचा है।

तत्काल मिले किसानों को राहत
संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजक रविप्रकाश ताम्रकार ने बताया कि केले की जिले में व्यापक पैदावार होती है। इस बार स्थिति किसानों के अनुकूल नहीं है। अंधड़ ने फसल को तबाह कर दिया है। इससे किसानों को व्यपाक नुकसान हुआ है। किसानों को तत्काल राहत दिया जाना चाहिए। उपसंचालक उद्यानिकी सुरेश ठाकुर ने बताया कि सर्वे में सामने आई स्थिति के आधार पर किसानों को बीमा भुगतान व मुआवजा के लिए प्रकरण तैयार किया जा रहा है। आला अधिकारियों ने भी मौका मुआयना किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

SpiceJet की एक और फ्लाइट में खराबी, मुंबई में प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटनायूपी में प्रशासनिक फेरबदल, 4 IAS और 3 PCS किए गए इधर से उधरउत्तर प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड परीक्षा-2022: जाने परीक्षा केंद्र के लिए बनाए गए नियमGujarat: एमई, एमफार्म में प्रवेश के लिए आज से शुरू होगा रजिस्ट्रेशनएंकर रोहित रंजन को रायपुर पुलिस नहीं कर पाई गिरफ्तार, अपने ही दो कर्मचारी के खिलाफ जी न्यूज़ ने दर्ज कराई FIRMausam Vibhag alert : मौसम विभाग का यूपी के कई जिलों में 9-12 जुलाई तक भारी बारिश का अलर्टबाप बोला, मेरे बेटे ने दोस्त के साथ मिलकर कर दी अपनी मां की हत्याGanpati Special Train: सेंट्रल रेलवे ने किया बड़ा एलान, मुंबई से चलेगी 74 गणपति महोत्सव स्पेशल ट्रेन, देखें पूरा शेड्यूल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.