दुर्ग: मोहलाई व बघेरा में खेतों पर अवैध प्लॉटिंग करने वाले 43 को नोटिस, जवाब नहीं दिया तो चलेगा बुलडोजर

एसडीएम ने इन गांवों में करीब 100 एकड़ कृषि भूमि पर अवैध प्लॉटिंग की शिकायत पर इन लोगों को नोटिस जारी कर जमीन और प्लॉटिंग की अनुमति संबंधी दस्तावेज मंगाए हैं।

By: Dakshi Sahu

Published: 29 Dec 2020, 02:45 PM IST

दुर्ग. शहर के नजदीकी गांवों मोहलाई और बघेरा में खेतों पर अवैध प्लॉटिंग कर बिक्री करने वाले 43 लोगों की पहचान कर नोटिस जारी किया गया है। एसडीएम ने इन गांवों में करीब 100 एकड़ कृषि भूमि पर अवैध प्लॉटिंग की शिकायत पर इन लोगों को नोटिस जारी कर जमीन और प्लॉटिंग की अनुमति संबंधी दस्तावेज मंगाए हैं। बताया जा रहा है कि नोटिस का संतोषजनक जवाब नहीं मिलने बुलडोजर चलाकर प्लॉटिंग के तैयार की गई संरचनाओं को ध्वस्त करने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही जमीन राजसात करने की कार्रवाई भी शुरू की जाएगी।

बता दें कि शहर से लगे मोहलाई और बघेरा में बड़ी संख्या में कृषि भूमि पर अवैध प्लॉटिंग की गई है। बताया जाता है कि विधानसभा व लोकसभा चुनावों के दौरान प्रशासन की व्यस्तता का फायदा उठाकर बड़ी संख्या में कृषि भूमि पर अवैध प्लॉटिंग कर बिक्री कर लिया गया है। हालात यह है कि अकेले मोहलाई, बघेरा व इसके आसपास ही शिवनाथ नदी के तट तक 100 एकड़ से ज्यादा जमीन पर अवैध प्लॉटिंग कर लिया गया है। यहां अवैध कॉलोनाइजर्स ने कच्ची सड़कें तैयार कर सैकड़ों की संख्या प्लॉट बेच लिया है। इसकी शिकायत कलेक्टर से की गई थी। इसे देखते हुए अब जिला प्रशासन द्वारा कार्रवाई की तैयारी की जा रही है।

पहले भी चार को नोटिस
इससे पहले टाउन एंड कंट्री प्लॉनिंग द्वारा मास्टर प्लान के प्रावधानों के विपरीत अवैध प्लॉटिंग की शिकायत पर मार्च में चार किसानों को नोटिस जारी किया गया था। इनमें गवली पारा दुर्ग के पदम जैन पिता ज्ञानमल जैन, मोहलाई की लक्ष्मीन गनपत, जमुनादास पिता शिव भगत और भभूत पिता बैगा शामिल थे। इन किसानों द्वारा खसरा क्रमांक 32, 33, 34, 35-1 व अन्य भूमि पर अवैध प्लॉटिंग पाया गया था।

टाउन प्लानिंग ने दबाई फाइल
टाउन प्लानिंग ने नोटिस में किसानों को 7 दिन के भीतर अवैध प्लॉटिंग हटा लेने के लिए कहा था। अन्यथा की स्थिति नगर एवं ग्राम निवेश अधिनियम की धारा 37 की उपधारा 6-क व ख के तहत कार्रवाई कार्रवाई करने और निर्माण हटाकर बेदखल किए जाने की चेतावनी दी गई थी। इसके साथ ही भू-राजस्व संहिता के तहत खर्च की वसूली की भी चेतावनी दी गई थी। नौ माह बाद भी फाइल आगे नहीं बढ़ी है।

दोबारा शिकायत के बाद नोटिस
मोहलाई व आसपास के ग्रामीण अवैध प्लॉटिंग की लगातार शिकायत की जा रही है। पिछले दिनों डायवर्टेड के नाम पर कृषि भूमि थमा दिए जाने से नाराज खरीदार अशोक मिश्रा ने कलेक्टर के समक्ष इसकी शिकायत दर्ज कराई थी। इस पर शिकायतकर्ता को मामले की जांच व कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया था। एसडीएम द्वारा इसके बाद संबंधित पटवारियों से जानकारी मंगाकर नोटिस जारी किया गया है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned