script60 percent no rain, sowing also 50 percent | आधा आषाढ़ बीता- 60 फीसदी भी नहीं हुई बारिश, बोनी भी 50 फीसदी, अन्नदाता परेशान | Patrika News

आधा आषाढ़ बीता- 60 फीसदी भी नहीं हुई बारिश, बोनी भी 50 फीसदी, अन्नदाता परेशान

आधा आषाढ़ बीत गया है। इस सीजन में अमूमन मूसलाधार बारिश की स्थिति बनती है, लेकिन इस बार आषाढ़ लगभग सूखा ही चल रहा है। हालात यह है कि पिछले साल 3 जुलाई तक जिले में 296.7 एमएम बारिश हो चुकी थी। इस बार यह आंकड़ा 130.9 एमएम में आकर अटक गया है। यह औसत बारिश का महज 57.4 फीसदी है। इधर अच्छी बारिश नहीं होने के कारण बोनी भी महज 50 फीसदी हो पाई है।

दुर्ग

Published: July 04, 2022 10:55:04 am

इस बार जिले में मानसून की शुरूआत बेहद कमजोर रही। हालात यह है कि एक भी बार मूसलाधार बारिश की स्थिति नहीं बन पाई है। सामान्य मानसून में इस सीजन तक 228 से 250 एमएम बारिश हो जाना चाहिए। पिछले साल इस अवधि तक सामान्य से 36 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी थी।
आधा आषाढ़ बीता- 60 फीसदी भी नहीं हुई बारिश, बोनी भी 50 फीसदी, अन्नदाता परेशान
60 फीसदी भी नहीं हुई बारिश, बोनी भी 50 फीसदी, अन्नदाता परेशान

6 साल में दूसरी बार ऐसे हालात
जिले में 6 साल में दूसरी बार यह स्थिति बन रही है। इससे पहले वर्ष 2014 में भी इसी तरह के हालात बनें थे। हालांकि वर्ष 2014 में जुलाई के मध्य में स्थिति सुधर गई थी और जमकर बारिश हुई थी। इसके कारण हालात भी सुधर गए थे। पिछले साल जुलाई के बाद खंडवर्षा की स्थिति बनी थी।

बारिश नहीं तो बिगड़ेंगे हालात
मैदानी इलाकों के भाठा व अपलैंड में बोनी नहीं हो पाई है। वहीं जिन्होंने बोनी कर लिया है उनके पौधे सूखना शुरू हो गए हैं। अंजोरा के सनत ने बताया उनके पास करीब 10 से 11 एकड़ खेत हैं। इनके कुछ हिस्से मैदान से लगे हैं। जल्द अच्छी बारिश नहीं हुई तो बोनी नहीं हो पाएगी।

फसलों को यह खतरा

0 जिले में 1 लाख 30 हजार हेक्टेयर में धान की खेती होती है। इसमें से 88 हजार 200 हेक्टेयर में छिड़का व 13 हजार 800 हेक्टेयर में कतार बोनी होती है। अपलैंड व मैदानी इलाकों में 40 से 50 फीसदी बोनी अंकुरण की स्थिति में है। धूप व गर्मी के कारण अंकुरण सूखने की स्थिति बन रही है।
0 2 हजार 775 हेक्टेयर से अधिक में रोपा पद्यति से खेती की जाती है। किसानों ने इसके लिए नर्सरी भी लगा रखा है। जल्द अच्छी बारिश नहीं हुई तो जिनके पास खुद का ट्यूबवेल है उनको छोड़कर शेष किसान समय पर रोपाई शुरू नहीं कर पाएंगे। धान की नर्सरी में दीमक, चूहे व चीटियों की शिकायत सामने आ रही है।
0 धमधा ब्लॉक में बड़ी संख्या में किसान सोयाबीन की खेती करते हैं। यह समय बोनी व अंकुरण का है। पानी के कमी के कारण बीजों में अंकुरण नहीं होने की शिकायत है। जल्द बारिश नहीं होने से बीज सूखने व अंकुरण नहीं होने का खतरा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Independence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातेंस्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेह पहुंचे मनोज तिवारी और निरहुआ, जवानों को परोसा खाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.