1.05 लाख एपीएल परिवारों ने मांगा राशन कार्ड, महीनेभर में केवल 15 हजार बना पाए अफसर

जिले के 1 लाख 5 हजार एपीएल परिवारों ने खाद्य विभाग को आवेदन सौंपकर राशन कार्ड बनाने की मांग की है, लेकिन महीनेभर में खाद्य विभाग द्वारा केवल 15 हजार राशन कार्ड बनाकर हितग्राहियों को दिया जा सका है। इससे बचे हुए एपीएल हितग्राहियों को इस माह राशन नहीं मिलने की स्थिति बन गई है।

दुर्ग. बीपीएल के बाद अब एपीएल परिवारों के भी राशन कार्ड बनाने में खाद्य विभाग के अफसरों की लेटलतीफी सामने आई है। जिले के 1 लाख 5 हजार एपीएल परिवारों ने खाद्य विभाग को आवेदन सौंपकर राशन कार्ड बनाने की मांग की है, लेकिन महीनेभर में खाद्य विभाग द्वारा केवल 15 हजार राशन कार्ड बनाकर हितग्राहियों को दिया जा सका है। इससे बचे हुए एपीएल हितग्राहियों को इस माह राशन नहीं मिलने की स्थिति बन गई है।


शिविर लगाकर लिया आवेदन
राज्य शासन द्वारा इस बार बीपीएल के साथ एपीएल परिवारों के लिए भी सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन कार्ड बनाया जा रहा है। इसी के तहत महीनेभर पहले पंचायतों व नगरीय निकायों के प्रत्येक वार्ड में शिविर लगाकर हितग्राहियों से आवेदन लिए गए हैं। इन हितग्राहियों का अब खाद्य विभाग द्वारा राशन कार्ड बनाया जा रहा है।


अक्टूबर से देना था खाद्यान्न
राज्य शासन द्वारा नए राशन कार्ड पर बीपीएल के साथ अक्टूबर से एपीएल परिवारों को भी राशन देने की घोषणा की गई थी, लेकिन कार्ड नहीं बनने व वितरण नहीं होने से इन परिवारों को इस माह राशन मिलने की संभावना अब कम ही दिख रही है।


कोटे का भी नहीं हुआ आवंटन
राशन कार्ड नहीं बन पाने से इस माह एपीएल हितग्राहियों के कोटे के राशन भी दुकान संचालकों को आवंटित नहीं किया गया है। हालांकि अफसरों द्वारा पुराने स्टॉक से वितरण का दावा किया जा रहा है। खाद्य नियंत्रक सीपी दीपांकर का कहना है कि अगले माह से नियमित आवंटन किया जाएगा।

Hemant Kapoor
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned