दुर्ग विवि ने दिया कॉलेजों को बड़ा झटका, बीएड के विद्यार्थी अभी नहीं भर पाएंगे फार्म

बीएड कॉलेजों से विद्यार्थियों की अटेंडेंस का ब्योरा मांगा गया था, लेकिन आधे से अधिक कॉलेजों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया।

By: Dakshi Sahu

Published: 14 Nov 2017, 11:22 AM IST

भिलाई. दुर्ग विश्वविद्यालय ने बीएड कॉलेजों को एक और झटका दिया है। विवि प्रशासन ने सोमवार से सेमेस्टर परीक्षा के फार्म भरने की प्रक्रिया शुरू कराई है, जिसमें बीएड और एमएड के विद्यार्थियों को शामिल नहीं किया गया है। अधिकारियों ने इसके पीछे तर्क दिया है कि बीएड कॉलेजों से विद्यार्थियों की अटेंडेंस का ब्योरा मांगा गया था, लेकिन आधे से अधिक कॉलेजों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया।

बच नहीं पाएंगे
अब विवि प्रशासन सिर्फ उन्हीं विद्यार्थियों को परीक्षा में शामिल होने का मौका देगा, जिनकी कॉलेज में 75 फीसदी हाजिरी होगी। यदि विद्यार्थियों की फर्जी अटेंडेंस विवि को दी गई तो भी कॉलेज बच नहीं पाएंगे क्योंकि विवि के पास पहले से कई कॉलेजों के रजिस्टर की कॉपी मौजूद है। विवि, कॉलेजों की ओर से भेजी गई उपस्थिति का मिलान करेगा।

विवि ने कॉलेजों से सभी बीएड व एमएड विद्यार्थियों का मोबाइल नंबर भी मांगा है, जिस पर रैंडम कॉल के जरिए कॉलेजों की असलियत तलाशी जा रही है। हालांकि विश्वविद्यालयीन अधिकारियों ने इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है।

23 तक भर सकेंगे फार्म
विवि के सेमेस्टर फार्म जमा करने की अंतिम तिथि २३ नवंबर है। २४ तक विद्यार्थियों को हार्डकॉपी कॉलेजों में जमा करनी होगी। जबकि परीक्षाएं 27 से शुरू हो जाएंगी। विवि ने फार्म भरने की अंतिम तिथि और परीक्षा के बीच महज चार दिनों का अंतर छोड़ा है, यानि इसके बाद फार्म जमा करने की तिथि को आगे बढ़ाने की गुंजाइश भी कम है।

दिया जाएगा अटेंडेंस का विवरण
विवि ने साफ कर दिया है कि 75 फीसदी से कम अटेंडेंस वाले विद्यार्थियों को परीक्षा फार्म जमा नहीं करने दिए जाएंगे। रजिस्ट्रार दुर्ग विवि डॉ. एसके त्रिपाठी ने बताया कि बीएड कॉलेजों से विद्यार्थियों की अटेंडेंस का ब्योरा मांगा था, लेकिन अधिकतर ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। विद्यार्थियों की अटेंडेंस का विवरण आने के बाद ही वे फार्म जमा कर सकेंगे। उनके फार्म की अधिसूचना अलग से जारी होगी।

 

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned