नाबालिग अपहरण कांड: आरोपी की मां और दो भाई गिरफ्तार

नाबालिग अपहरण कांड: आरोपी की मां और दो भाई गिरफ्तार

नाबालिग को उगाही के लिए रायपुर में बंधक बनाकर रखने के मामले में दुर्ग पुलिस ने एक महिला व उसके दो बेटों को गिरफ्तार किया है।

दुर्ग. शहर की नाबालिग को उगाही के लिए रायपुर में बंधक बनाकर रखने के मामले में दुर्ग पुलिस ने रायपुर की एक महिला व उसके दो बेटों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने शुक्रवार की रात तेलीबांधा निवासी गीता रज्जानी (45) और उसके बेटे देवा (22) व करण (18) को गिरफ्तार किया। तीनों को शनिवार को अवकाश के कारण लिंक कोर्ट में पेश किया गया। न्यायाधीश जसविन्दर कौर अजमानी ने तीनों को न्यायिक अभिरक्षा जेल भेज दिया। प्रकरण का मुख्य आरोपी व महिला का बड़ा बेटा कुंदन दूसरे मामले में सेंट्रल जेल रायपुर में बंद है। पुलिस न्यायालय से अनुमति लेकर उसे पूछताछ करने के लिए दुर्ग लाएगी।

शनिवार को न्यायालय में पेश किया
पद्मनाभपुर पुलिस चौकी प्रभारी प्रमोद श्रीवास्तव के नेतृत्व वाली टीम ने आरोपी महिला और उसके दो बेटों को उसके निवास स्थान पर ही गिरफ्तार किया। तीनों को शुक्रवार की रात में ही पुलिस रायपुर से दुर्ग ले आई थी। रात में तीनों से पूछताछ के बाद शनिवार को न्यायालय में पेश किया गया।

राजिम की युवती को भी ब्लैकमेल
पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी कुंदन आतदन बदमाश है। नाबालिग से दोस्ती कर अपने प्रेम जाल में फंसाने से पहले वह नयापारा राजिम की एक युवती के साथ भी इसी तरह की घटना को अंजाम दे चुका है। राजिम की पीडि़त युवती ने अप्रैल 2017 में शिकायत की थी। उसी मामले में रायपुर पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर जेल दाखिल करा चुकी है।

जेवर कहां नहीं मालूमर्
पूछताछ में महिला गीता रज्जानी ने पुलिस को बताया कि नाबालिग उसके बेटे से प्रेम करती है। रक्षाबंधन के दिन वह कुंदन से मिलने आई थी। इससे ज्यादा वह कुछ नहीं जानती। रायपुर बस स्टैंड से नाबालिग को उसके बेटे देवा और करण घर में लेकर आए थे। नकदी रकम व जेवर के बारे में महिला ने अनभिज्ञता जाहिर की।

यह है मामला

कुंदन ने फेसबुक पर नाबालिग से छह माह पहले दोस्ती की। नाबालिग से मेलजोल बढ़ाया।
रक्षाबंधन के दिन नाबालिग अचानक गायब हो गई। परिजनों की तलाश के बाद नहीं मिलने पर पुलिस को सूचना दी गई। रायपुर क्राइम ब्रांच पुलिस की मदद से नाबालिग को तेलीबाधा स्थित आरोपी के निवास स्थान से बरामद कर परिजनों के हवाले किया गया। रायपुर से दुर्ग पहुंचने के बाद नाबालिग ने बताया कि कुंदन उसकी फोटो को एडिट कर अपने पास रखा है। उसी फोटो को वायरल करने की धमकी देता था। डर के कारण ही वह रुपए व गहने कुंदन को देती रही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned