पहली बार CM ने कही बच्चों से दिल की बात, इसलिए देखते थे वे बचपन में सेना में जाने के सपने

Dakshi Sahu

Publish: Nov, 14 2017 04:19:05 (IST)

PT Ravishankar Shukla Stadium, Civil Lines, Durg, Chhattisgarh, India
पहली बार CM ने कही बच्चों से दिल की बात, इसलिए देखते थे वे बचपन में सेना में जाने के सपने

आरटीई मेले के मंच से सीएम ने बच्चों से पहली बार अपने दिल की बात कही।

भिलाई. कमजोर वर्ग के बच्चों को शिक्षा का अधिकार देने के साथ-साथ उनकी प्रतिभा को निखारने के लिए बनाए गए आरटीई मेले के मंच से सीएम ने बच्चों से पहली बार अपने दिल की बात कही। बाल मेला में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बच्चों से कहा कि यदि वे सीएम या डॉक्टर नहीं होते तो सेना के जवान होते। सेना में जाने का उन्हें बहुत मन था। इसलिए आज भी वे सेना के जवानों को देखकर फूले नहीं समाते।

च्चों से की सीएम ने रोचक बातें
मुख्यमंत्री ने बाल मेला में प्रयास, विज्ञान विकास केंद्र और हॉस्टल के सफल बच्चों से ढेर सारी बातें की। उन्हें टिप्स भी दिए और कई रोचक जवाब भी दिए। बाल दिवस पर आयोजित इस कार्यक्रम में सीएम बच्चों के साथ बचपन के रंग में रंगे हुए नजर आए। बाल दिवस पर दुर्ग का रविशंकर स्टेडियम लगभग 10 हजार बच्चों से गुलजार था। प्रदेश में दुर्ग पहला ऐसा जिला है जहां आरटीई के बच्चों के लिए मेला लगाया गया।

60 नोडल के बच्चे हुए शामिल
बाल दिवस पर हुए इस कार्यक्रम में जिलेभर के करीब 60 नोडल के तहत आने वाले निजी स्कूलों में पढऩे वाले आरटीई के बच्चों ने हिस्सा लिया। दुर्ग के स्टेडियम में लगे इस मेले में सभी नोडल के लिए अलग-अलग स्टॉल बनाए गए थे। जिसमें आरटीई के बच्चे अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित कर रहे थे। इसमें उनके बनाए मॉडल, पेटिंग आदि की प्रदर्शनी लगाई थी। साथ ही बच्चों ने एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक भी दी।

आरटीई एक्ट के लागू होने के बाद अब तक जिले में करीब 17 हजार बच्चे निजी स्कूलों में पढ़ रहे हैं। जिसमें से कक्षा पहली के बाद के ही छात्रों को इसमें शामिल किया गया। साथ ही उनके पैरेंट्स को भी शामिल किया गया। बाल मेले में सुबह 9 बजे से बच्चे आ गए थे। उन्होंने खुद आपस में मिलकर अपने-अपने नोडल के स्टॉल का सजाया। दिनभर चलने वाले इस मेले में बच्चों के लिए सभी तरह की व्यवस्था शिक्षा विभाग ने की थी।

बाल दिवस की थीम पर बना मंच
बाल मेले को लेकर स्टेडियम के अंदर विशेष मंच बनाया गया था। जिसमें सीएम के अलावा उच्च शिक्षा एवं राजस्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय, महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू, भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय , दुर्ग महापौर चंद्रिका चंद्राकर, विधायक विद्या रतन भसीन आदि उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned