Breaking: जब रेलवे गार्ड ने देखा एक ही ट्रैक पर आ रही दो एक्सप्रेस ट्रेन फिर...

 Breaking: जब रेलवे गार्ड ने देखा एक ही ट्रैक पर आ रही दो एक्सप्रेस ट्रेन फिर...
n the railway guard saw two express trains coming on the same track

एक ही ट्रैक पर दो ट्रेनों के आने और उनके रोकने की घटना देखकर हर कोई हैरान था। वहीं ट्रैक घुमावदार था, इस वजह से यह नजारा मुसाफिरों ने भी देखा।

भिलाई. एक टै्क पर आगे दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस दौड़ रही थी, तो पीछे-पीछे दूसरी एक्सप्रेस आ रही थी। इसी बीच दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस के गार्ड की नजर जब पीछे आ रही एक्सप्रेस पर पड़ी, तो वह हड़बड़ा गया। वह लाल झंडा दिखाना शुरू किया, तब जाकर पीछे वाली एक्सप्रेस रुकी।

एक ही ट्रैक पर दो ट्रेनों के आने और उनके रोकने की घटना देखकर हर कोई हैरान था। वहीं ट्रैक घुमावदार था, इस वजह से यह नजारा मुसाफिरों ने भी देखा। वे एक्सप्रेस के ठहरते ही बोगी से नीचे उतरे और राहत की सांस ली। इसके बाद करीब 30 मिनट तक लोग इस घटना की सेल्फी लेने में जुटे रहे।   
 
The railway guard saw two express trains coming on

शनिवार को निकली थी दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस
दुर्ग से शनिवार की शाम को निकली दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस रविवार की सुबह ओडिसा के बारंग के समीप पहुंची। तालचर रेलवे स्टेशन आने से पहले बारंग के समीप एक ट्रैक पर दो एक्सप्रेस आ गई। इस एक्सप्रेस में भुवनेश्वर पहुंचने से पहले मुसाफिरों की भीड़ खचाखच थी।

Read This: ई-टिकट बनवा रहे हैं तो हो जाएं सावधान, कहीं आप भी न हो जाएं फ्रॉड के शिकार...

ट्रेन रुकी तब जान में जान आई  
पावर हाउस रेलवे स्टेशन से खोर्दारोड जाने शनिवार को सवार हुए, शेख यूसुफ ने बताया कि सुबह करीब 10 बजे रहे थे। जब दोनों एक्सप्रेस एक दूसरे के समीप तक पहुंच गई। यह सुनकर और देखकर लोगों की सांसें अटक गई थी। जब दोनों एक्सप्रेस एक ही पटरी पर दूरी बनाकर खड़ी हो गई, तब मुसाफिरों की जान में जान आई।

Read This: यात्रियों के लिए खुशखबरी, वेटिंग क्लियर नहीं तो विकल्प से मिलेगा कंफर्म टिकट..

चल रहा था ट्रैक पर काम

दुर्ग-पुरी एक्सप्रेस में सवार शेख जहांगीर ने बताया कि ट्रैक पर मेंटनेंस का काम चल रहा था। इस वजह से सभी ट्रेन को एक ही ट्रैक से भेजा जा रहा है। एक ट्रैक पर दो एक्सप्रेस को तय दूरी रखने के बाद ही भेजा जाता है। यहां दोनों एक्सप्रेस साथ-साथ चल रही थी। रेलवे की इस बड़ी चूक का खामियाजा हजारों मुसाफिरों को भुगतना पड़ सकता था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned