रुपए डबल करने का झांसा देकर लोगों को चूना लगाने वाले चिटफंड कंपनियों की अब खैर नहीं, SP ने कहा होगी डॉयरेक्टर्स की गिरफ्तारी

रुपए डबल करने का झांसा देकर करोड़ों रुपए लेकर विदेश भाग चुके और कंपनियों के फरार डायरेक्टरों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस प्लान तैयार कर रही है।

By: Dakshi Sahu

Published: 31 Jul 2021, 01:26 PM IST

भिलाई. जिले के भोले भाले लोगों को कम समय में रुपए डबल करने का झांसा देकर करोड़ों रुपए लेकर विदेश भाग चुके और कंपनियों के फरार डायरेक्टरों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस प्लान तैयार कर रही है। लोगों की रकम वापस कराई जा सके। चिटफंड कंपनियों के डायरेक्टर्स जो विदेशों में भाग कर छुपे हुए है, उनकी गिरफ्तारी को लेकर नेड कॉर्नर नोटिस और लुक आउट नोटिस भी पुलिस जारी कर सकती है। बड़ी बात यह है कि दुर्ग पुलिस 51 प्रकरणों में मजबूत विवेचना कर 44 प्रकरणों का चालान अब तक प्रस्तुत कर चुकी है। यह पहल राज्य शासन के मंशानुरुप निवेशकों के जल्द से जल्द निवेश की गई रकम वापस दिलाने की विशेष पहल की जा रही है।

राज्य शासन के दिशा निर्देशों को लेकर शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने पुलिस नियंत्रण कक्ष पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। जिले के अलग-अलग थानों में 51 प्रकरण दर्ज है। इसमें 44 प्रकरणों में पुलिस ने चालान प्रस्तुत कर दिया है। अभी करीब 7 प्रकरण लंबित है। इस मौके पर शहर के अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक संजय कुमार ध्रुव, ग्रामीण अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंत कुमार साहू, दुर्ग नगर पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला, छावनी नगर पुलिस अधीक्षक विश्वास चंद्राकर, पाटन उप पुलिस अधीक्षक आकाश राव गिरेपुंजे और टीआई व चौकी प्रभारी उपस्थित थे। एसपी ने अनियमित वित्तीय कंपनियों के खिलाफ दर्ज प्रकरणो ंकी थानेवार समीक्षा की। अनियमित वित्तीय कंपनियों के लंबित केस के जल्द निराकरण के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए गए। कंपनी के खिलाफ जिले के अन्य थानों में पंजीबद्ध अपराध की जानकारी विस्तार से लिया।

फरार डायरेक्टरों की गिरफ्तारी का प्लान बनाने दिए निर्देश
एसपी ने प्रकरणो में हुई डायरेक्टरों की गिरफ्तारी की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि इनकी पूरी लिस्ट तैयार करें। जो आरोपी अन्य राज्यों में गिरफ्तार हुए हैं उनके बारे में पता करें। जो देश से बाहर भाग गए है, उनकी गिरफ्तारी को लेकर आवश्यकता पडऩे पर रेड कॉर्नर व लुक ऑउट नोटिस जारी करने की तैयारी कर सकते हैं। इसके अलावा अन्य जिलों के थानों में दर्ज एफ.आईआर की जानकारी इक_ा करने के आदेश दिए।

कहां-कहां हैं ठगने वाली कंपनी की संपत्ति
बैठक में एसपी ने कहा कि ठगी करने वाली कंपनियों की संपत्ति कहां-कहां है। उसके अनुमानित मूल्य की जानकारी एकत्र करें। कपंनी के कुर्की की कार्यवाही की अद्यतन स्थिति के संबंध में थाना और चौकी प्रभारीयों से जानकारी ली गई। कंपनी के संचालकों की गिरफ्तारी और उनकी संपत्ति कुर्क की अघतन जानकारी लेकर कार्यवाही शुरु करने का आदेश दिए।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned