CBSE: 12 वीं के पहले पेपर में आउट ऑफ सिलेबस प्रश्न देखकर उड़े स्टूडेंट्स के होश, बिना आदेश उतरवाए जूते

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) ने शनिवार को 12 वीं के विद्यार्थियों का अंग्रेजी कोर विषय का पेपर लिया। पर्चा हाथ में आते ही विद्यार्थियों के होश उड़ गए।

By: Dakshi Sahu

Published: 03 Mar 2019, 04:25 PM IST

भिलाई. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) ने शनिवार को 12 वीं के विद्यार्थियों का अंग्रेजी कोर विषय का पेपर लिया। पर्चा हाथ में आते ही विद्यार्थियों के होश उड़ गए। प्रश्न पत्र में 6 अंकों का एक प्रश्न सिलेबस के बाहर से पूछा गया। भिलाई-दुर्ग की 34 से अधिक सीबीएसई स्कूलों के करीब 6 हजार विद्यार्थियों ने पर्चा हल किया।

दो किताबें दी जाती है विद्यार्थियों को
स्कूलों के शिक्षकों का कहना है कि अंग्रेजी कोर पेपर में विद्यार्थियों को बोर्ड की ओर से पढऩे के लिए दो किताबें दी जाती हैं। स्कूलों को इनमें से कोई एक रेफर करना होता है। प्रश्न दोनों ही किताबों में नहीं है। सिलेबस के बाहर का प्रश्न देखकर विद्यार्थियों के साथ उनके पालकों के भी चेहरों पर पसीना आ गया।

कर सकता है रिजल्ट को प्रभावित
सीबीएसई 12 वीं के नतीजों में एजुकेशन हब भिलाई हमेशा से ही अव्वल रहा है। पिछले दो साल से हमारे होनहार प्रदेश व सीबीएसई भुवनेश्वर जोन में स्थान हासिल करते आए हैं। इस तरह अब ६ अंक उनके रिजल्ट को प्रभावित कर सकते हैं।

बोर्ड कल निर्णय लेगा
कहा जा रहा है कि सोमवार को बोर्ड इस संबंध में निर्णय ले सकता है। विद्यार्थियों को बोनस के रूप में ६ अंक दिए जा सकते हैं। इसी तरह यह प्रश्न विलोपित करने पर भी बोर्ड की ओर से फैसला आने की संभावना है।

आदेश नहीं, फिर भी उतरवाए विद्यार्थियों के जूते
माशिमं की 12 वीं बोर्ड परीक्षा शनिवार से शुरू हुई। जिले के 124 परीक्षा केंद्रों में 14,564 विद्यार्थियों ने पहला पर्चा विशिष्ट भाषा (हिंदी व अंग्रेजी ) का हल किया। 202 गैरहाजिर रहे। परीक्षा देकर निकले विद्यार्थियों ने बताया कि हिंदी का पर्चा काफी सरल रहा।

स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से विद्यार्थियों के जूते-चप्पल उतरवाने का कोई निर्देश नहीं है। बावजूद कई सकूलों में वीक्षकों ने विद्यार्थियों के जूते बाहर उतरवाए। परीक्षा के ठीक पहले विद्यार्थियों पर इस तरह सख्ती दिखाने से उनका मनोबल कम हो रहा है। उच्च शिक्षा सचिव ने भी इस बात की पुष्टि की है कि विद्यार्थियों के जूते नहीं उतरवाए जाएंगे।

504 स्वाध्यायी जेआरडी में दे रहे परीक्षा
दुर्ग के झाडूराम देवांगन बहूद्देशीय विद्यालय में सर्वाधिक 504 स्वाध्यायी विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की व्यवस्था की गई है। पहले दिन हिंदी व अंग्रेजी विशिष्ट के पर्चे में यहां 470 परीक्षार्थी उपस्थित रहे। 34 परीक्षा देने नहीं पहुंचे। डीईओ प्रवास बघेल के नेतृत्व में टीम ने 11 परीक्षा केंद्रों में विद्यार्थियों व परीक्षा संचालन का जायजा लिया। नोडल अधिकारी, सीबीएसई दुर्ग आरएस पांडेय ने बताया कि १२वीं अंग्रेजी कोर के पेपर में बिना किसी च्वाइस सिलेबस के बाहर से प्रश्न दिए है। 6 अंक के प्रश्न को लेकर फिलहाल बोर्ड से कोई निर्णय नहीं आया।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned