पहली बार VIP कार से ज्यादा ई-रिक्शा पर प्रत्याशियों ने दिखाया भरोसा, प्रचार वाहनों में सबसे आगे छजकां और सबसे पीछे कांग्रेस

पार्टीवार वाहनों को देखें तो भाजपा और कांग्रेस से अधिक वाहनों की अनुमति छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने मांगी है। इस पार्टी ने 166 वाहनों की अनुमति ली है।

By: Dakshi Sahu

Published: 15 Nov 2018, 11:33 AM IST

दुर्ग. चुनाव में अब एक सप्ताह बाकी है। मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचाने के लिए प्रत्याशियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। निर्वाचन कार्यालय से अब तक विभिन्न दलों को 420 वाहनों से प्रचार करने की अनुमति दी है। पार्टीवार वाहनों को देखें तो भाजपा और कांग्रेस से अधिक वाहनों की अनुमति छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने मांगी है। इस पार्टी ने 166 वाहनों की अनुमति ली है।

कांग्रेस सबसे पीछे
दूसरे नबंर पर भाजपा और तीसरे नंबर पर कांग्रेस है। भाजपा ने 117 और कांग्रेस ने 99 वाहनों की अनुमति ली है। भाजपा के सबसे अधिक 21 वाहन दुर्ग विधान सभा क्षेत्र में दौड़ रही है। जबकि सबसे कम 9 वाहन दुर्ग ग्रामीण में है। आम आदमी पार्टी की 48 वाहन दौड़ रही है। प्रचार करने के लिए सबसे ज्यादा ई-रिक्शा, मालवाहक वाहन और टैक्सी टाइप वाहनों क ी अनुमति ली गई है। इसकी वजह यह है कि किराया अन्य वाहनों की तुलना में कम है।

कम वाहनों का कर रहे इस्तेमाल
चुनाव आचार संहिता का पालन करने को लेकर सख्ती और प्रचार अभियान पर खर्च की सीमा निर्धारित होने के कारण प्रत्याशी झंडे-बैनर के साथ प्रचार के लिए कम से कम वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। यही वजह है कि इस बार गांव हो या शहर चुनावी शोर गुल ज्यादा सुनाई नहीं दे रही है।

भिलाईनगर में सबसे अधिक वाहन
जिले के भिलाई विधानसभा वाहनों से प्रचार करने में सबसे आगे हैं। यहां के १४ प्रत्याशियों ने कुल ८३ वाहनों से प्रचार करने आयोग से विधिवत अनुमति ली है। वही सबसे कम वाहन पाटन विधान सभा क्षेत्र में है। पाटन क्षेत्र में ४५ प्रचार वाहन दौड़ रही है। स्थानीय उपनिर्वाचन कार्यालय ने अब तक कुल 420 वाहनों से प्रचार करने की अनुमति दी है।

इसमें से 400 वाहनों में ध्वनि विस्तार यंत्र लगाने की अनुमति है। इसके लिए निर्वाचन कार्यालय ने अलग से अनुमति जारी की गई है। जिला निर्वाचन कार्यालय के वाहन अनुमति शाखा से प्राप्त जानकरी के अनुसार ध्वनिविस्तारक यंत्रों के लिए समय के शर्त के साथ अनुमति दी गई है। चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित समय के बाद लाउड स्पीकर बजाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

400 रैली, जुलूस की मिली मंजूरी
प्रत्याशी वाहनों से प्रचार करने के अलावा नुक्कड़ सभा भी कर रहे हैं। जिले में अब ४०० रैली, जुलूस व सभा के लिए आवेदन को मंजूरी मिल चुकी है। दुर्ग शहर में अलग-अलग पार्टी व प्रत्याशियों को १३३ रैली व नुक्कड़ सभाओं की अनुमति दी गई है।

चार बिना अनुमति वाहनों पर कार्रवाई की
चुनाव प्रचार में लगे वाहनों की जांच करने उडऩ दस्ता की टीम भी लगी है। बिना अनुमति के प्रचार करने वाले वाहनों के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की जा रही है। चुनाव प्रचार कर रहे वाहनों पर कार्रवाई के साथ उन्हें जब्त भी कराया गया।

पहली कार्रवाई मोहन नगर थाना पुलिस ने की है। इसके बाद भिलाई नगर, अहिवारा और पाटन व वैशाली नगर पुलिस ने भी कार्रवाई की है। खास बात यह है कि भिलाई नगर कोतवाली पुलिस द्वारा जब्त वाहन की अनुमति दिखाने पर न्यायालय ने वाहन को सुपुर्दनामा में दिया।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned