इंसाफ की खातिर 93 साल के बुजुर्ग पहुंचे उपभोक्ता फोरम, घटिया सामान देने वाले को ऐसे सिखाया सबक

जैन मेडिकल स्टोर्स से 7 जुलाई 2016 को 2100 रुपए में श्रवण यंत्र खरीदी थी। वह छह दिन में खराब हो गया।

By: Dakshi Sahu

Published: 13 Mar 2018, 11:22 AM IST

दुर्ग . गंजपारा निवासी 93 वर्षीय सीनियर सिटीजन लक्ष्मीनारायण राठी ने नई खरीदी श्रवण यंत्र के खराब होने पर जिला उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खट खटाया। उसे न्याय भी मिला। फोरम ने फैसला उनके हक में सुनाया। राठी को कम सुनाई देता है। इसीलिए उन्होंने जैन मेडिकल स्टोर्स से 7 जुलाई 2016 को 2100 रुपए में श्रवण यंत्र खरीदी थी। वह छह दिन में खराब हो गया।

दोषी ठहराते हुए लगाया जुर्माना
सुनवाई के बाद जिला उपभोक्ता फोरम की अध्यक्ष मैत्रेयी माथुर, सदस्य राजेन्द्र पाध्ये व लता चंद्राकर ने जैन मेडिकल स्टोर्स के प्रोपाइटर राजेश जैन को दोषी ठहराते कुल ३२१०० रुपए हर्जाना एक माह के भीतर देने का आदेश दिया है।

मेडिकल संचालक ने कहा परिवाद गलत
बचाव में उपभोक्ता फोरम में मेडिकल संचालक ने कहा कि मशीन खरीब होने की शिकयत नहीं की। सीधे नोटिस भेजा। तब इसके बाद भी फोन पर दूसरी मशीन ले जाने के लिए लक्ष्मीनारायण राठी को कहा पर परिवादी दुकान आया ही नहीं। उन्होंने परिवाद को गलत बताते हुए निरस्त करने की मांग की।

शिकायत पर नहीं किया गया था समस्या का निराकरण
हर्जाने की राशि में मशीन की कीमत २१ सौ रुपए, मानसिक कष्ट के लिए २५ हजार और १० हजार वाद व्यय शामिल है। राठी ने कहा मशीन के खराब होने से उसे काफी मानसिक परेशानी हुई। उसने दुकान में मशीन खराब होने की शिकायत की पर समस्या का निराकरण किया गया। अधिवक्ता के माध्यम से लीगल नोटिस भेजा, तब भी ध्यान नहीं दिया।

फोरम ने कहा  93 साल बुजुर्ग को परेशानी हुई
फैसले में फोरम ने कहा कि परिवादी 93 साल का बुजुर्ग है। सुनाई नहीं देने की समस्या से गुजरने के कारण मशीन ली थी। वह भी छह दिन में खराब हो गई। ऐसी स्थिति में उसे कष्ट हुआ है। इसके लिए परिवादी ने २५००० मानसिक क्षतिपूर्ति की मांग की है यह राशि अत्यधिक नहीं है।

Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned