बेमेतरा रेल लाइन: कांग्रेस का पलटवार, सरोज के प्रस्ताव को बीजेपी ने मंजूरी नहीं दी

बेमेतरा रेल लाइन: कांग्रेस का पलटवार, सरोज के प्रस्ताव को बीजेपी ने मंजूरी नहीं दी
Bemetara rail line: The Congress hit back, BJP has not approved the proposal for Saroj

Satyanarayan Shukla | Updated: 05 Feb 2017, 08:21:00 PM (IST) Durg, Chhattisgarh, India

जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस में जिला भाजपा अध्यक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए रेल मंत्रालय और सदन की कार्रवाई के रिकॉर्ड की कॉपी दिखाई।

दुर्ग.केंद्रीय बजट में बेमेतरा रेललाइन को शामिल करने पर शुरू हुई श्रेय की लड़ाई दूसरे दिन भी जारी रही। जिला कांग्रेस अध्यक्ष हेमंत बंजारे ने प्रेस कांफ्रेंस में जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी के आरोपों का जवाब देते हुए रेल मंत्रालय और सदन की कार्रवाई के रिकॉर्ड की कॉपी दिखाई जिसमें सांसद ताम्रध्वज साहू के प्रस्ताव को मंजूरी मिलने का उल्लेख है।

मैकेनिकल सर्वे कार्य प्रगति पर

हेमंत ने बताया कि 16  जुलाई 2014 को सांसद ताम्रध्वज साहू की मांग पर तत्कालीन रेलमंत्री सदानंद गौड़ा ने दुर्ग, धमधा, बेमेतरा, नवागढ़, मुंगेली, बिलासपुर लाइन के सर्वे की स्वीकृति दी। 23 अक्टूबर 2015 को रेल मंत्रालय ने सांसद को सर्वे की स्वीकृति के आदेश जारी होने की जानकारी दी। नवंबर 2016  को रेलवे की बैठक में सांसद को यह बताया गया कि रेललाइन का मैकेनिकल सर्वे कार्य प्रगति पर है।

पांच साल के कार्यकाल की उपलब्धियां बताएं

बंजारे ने दावा किया कि मोदी सरकार ने पूर्व सांसद सरोज पांडेय की रेललाइन की मांग को मंजूरी ही नहीं दी। अगर उन्होंने सदन में यह मुद्दा उठाया है तो रिकॉर्ड दिखाएं।पूर्व सांसद ने चरौदा से बेमेतरा रेल लाइन की मांग की थी जिसे मंजूरी नहीं मिली। ताम्रध्वज पर निष्क्रियता के आरोपों पर हेमंत ने कहा कि जनता सब जानती है।ताम्रध्वज साहू ने रेल लाइन की मंजूरी दिलाने सहित कई मुद्दे उठाए हैं। भाजपा नेता यह जनता को बताएं कि सरोज पांडेय के पांच साल के कार्यकाल की उपलब्धियां रही।  

चौपाटी की टॉय ट्रेन चला नहीं पाए, पहले उसी का सर्वे करा लें

प्रेस कांफ्रेंस में निगम के नेता प्रतिपक्ष अब्दुल गनी ने विधायक अरूणवोरा और सांसद ताम्रध्वज साहू पर निष्क्रियता के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि दोनों जनप्रतिनिधि सुबह से शाम तक आम जनता के लिएसक्रिय रहते हैं। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि जो लोग चौपाटी में बच्चों की टॉय ट्रेन नहीं चला पाए, वो बेमेतरा रेललाइन का श्रेय ले रहे हैं।

सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं

पुष्पवाटिका में पुष्प नहीं, झाडिय़ों का जंगल है। शहर का विकास विधायक अरूण वोरा की सक्रियता से हो रहा है। वोरा विधानसभा में सक्रिय रहकर मुद्दे उठाते हैं जिसके कारण विकास कार्यों के लिए फंड मंजूर हो रहा है। दुर्ग की महापौर चंद्रिका चंद्राकर अपनी ही सरकार से फंड लाने में नाकाम रही। सांसद और विधायक को भाजपा नेताओं के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है।     

पहले हाउसलीज स्कीम का वादा पूरा कर लें सरोज

हेमंत बंजारे ने कहा कि वैशाली नगर विधानसभा चुनाव में सरोज पांडेय ने केंद्र में भाजपा की सरकार बनने पर 9 दिनों के भीतर हाउस लीज की स्कीम लाने का वादा किया था।केंद्र में भाजपा की सरकार बने ढाई साल बीत चुके हैं।यह वादा पूरा क्यों नहीं हुआ। अगर सरोज पांडेय इतनी पॉवरफुल हैं तो हाउसलीज स्कीम लाकर दिखाएं।  

क्या लिखा है रेल मंत्रालय के पत्र में

रेल मंत्रालय के 23 अक्टूबर 2015 के पत्र में साफ लिखा है कि रेल मंत्री ने बजट भाषण में दुर्ग, धमधा, बेमेतरा, नवागढ़, मुंगेली, बिलासपुर लाइन का सर्वेप्रस्ताव शामिल करने की घोषणा की है। पत्र में चरौदा, धमधा, बेमेतरा, मुंगेली बिलासपुर रेल लाइन का सर्वे प्रगति पर होने के बावजूद सांसद ताम्रध्वज साहू के प्रस्ताव के आधार पर नया सर्वे कराने के आदेश का जिक्र है। सदन की कार्रवाई के रिकॉर्ड की कापी में सांसद ताम्रध्वज साहू के सवाल पर जवाब दिया गया कि दुर्ग, धमधा, बेमेतरा, मुंगेली लाइन का सर्वेहो चुका है।इसकी रिपोर्ट 19 मई 2016  को रेलवे बोर्ड को भेजी गई। इस कार्यकी अनुमानित लागत 1712.75 करोड़ रुपएहै।      

इसलिए शुरू हुआ विवाद

सांसद ताम्रध्वज साहू ने बजट में दुर्ग-बेमेतरा रेललाइन को शामिल करने पर इसे अपने कार्यकाल की उपलब्धि बताया था। शनिवार को भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी ने इसे गलत बताते हुए दावा किया कि यह योजना पूर्वसांसद सरोज पांडेय के कार्यकाल में स्वीकृत हुई थी। पूर्व सांसद ने जून 2009 में इस रेलमार्ग की मांग की। केंद्र में भाजपा सरकार बनने पर सरोज पांडेय ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु से संपर्क कर बजट में शामिल करने की मांग की।

अन्य जन प्रतिनिधियों को घेरा

उनके प्रयासों से बजट में रेललाइन की स्वीकृति मिली। जिसका श्रेय वर्तमान सांसद ले रहे हैं। टावरी ने सांसद ताम्रध्वज साहू और विधायक अरूण वोरा पर निष्क्रियता के आरोप लगाते हुए कहा कि वे भाजपा द्वारा कराए गए विकास कार्यों का श्रेय लेने का प्रयास कर रहे हैं। इसी का जवाब देते हुए कांग्रेस ने भाजपा की पूर्व सांसद समेत अन्य जन प्रतिनिधियों को घेरा है।  

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned