कलेक्टर ने भेजा था नर्सिंग छात्राओं को, सिरफिरे ने तलवार लेकर दौड़ाया

खुर्सीपार के वार्ड 33 में डेंगू के प्रति लोगों को जागरूक करने पहुंची गवर्नमेंट नर्सिंग कॉलेज की छात्राएं उस वक्त दहशत में आ गईं जब सड़क 2 में एक व्यक्ति उनके पीछे तलवार लेकर दौड़ पड़ा।

By: Dakshi Sahu

Published: 05 Sep 2018, 12:22 PM IST

भिलाई. खुर्सीपार के वार्ड 33 में डेंगू के प्रति लोगों को जागरूक करने पहुंची गवर्नमेंट नर्सिंग कॉलेज की छात्राएं उस वक्त दहशत में आ गईं जब सड़क 2 में एक व्यक्ति उनके पीछे तलवार लेकर दौड़ पड़ा। जब यह बात कलेक्टर उमेश अग्रवाल तक पहुंची तो उन्होंने तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए और उस व्यक्ति को गिरफ्तार कराया।

कलेक्टर ने कहा आरोपी को मिलेगी सजा
कलेक्टर अग्रवाल ने कॉलेज की प्राचार्य को भरोसा दिलाया है कि छात्राओं को अब ऐसी परेशानियाों का सामना नहीं करना पड़ेगा। बावजूद छात्राएं अब उस क्षेत्र में जाना नहीं चाहती। पत्रिका से बातचीत में कलेक्टर ने कहा कि चाहे छात्राएं हो या सरकारी कर्मचारी सभी लोगों की सुरक्षा के लिए ही अभियान में शामिल हो रहे हैं। नागरिकों को उनका सहयोग करना चाहिए ना कि उनके साथ दुव्र्यवहार। उन्होंने कहा कि ऐसी चीजें कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी और आरोपी को सजा मिलेगी।

डेंगू पीडि़त को लौटाने पर बीएसपी प्रबंधन को नोटिस
कलेक्टर ने डेंगू पीडि़तों को राहत पहुंचाने एक और आदेश जारी किया है कि अस्पतालों में प्लेटलेट्स के आधार पर नहीं बल्कि मरीज के हाई रिस्क को देखकर उन्हें दाखिल किया जाए। इस मामले में उन्होंने बीएसपी प्रबंधन को नोटिस भी दिया है जिन्होंने डेंगू पीडि़त सेक्टर-5 की मेघा साहू को दाखिल नहीं किया और उनकी मौत हो गई।

मरीजों की संख्या में फिर इजाफा
कलेक्टर अग्रवाल ने बताया कि अस्पतालों में हाई रिस्क वाले मरीजों को भर्ती करने के आदेश के बाद आज डेंगू पीडि़त मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। उन्होंने बताया कि सोमवार शाम से मंगलवार शाम तक 68 नए मरीज दाखिल हुए हैं जबकि पुराने मरीजों में 80 डिस्चार्ज हो चुके हैं।

रायपुर रेफर किए जाने वाले मरीजों की संख्या 8 है। इस तरह अब तक जिले मेंकुल 3463 डेंगू पीडि़त अस्पताल में दाखिल हुए। जिसमें से ३148 मरीज ठीक होकर लौट गए। वर्तमान में कुल 241 मरीज दाखिल हैं। रायपुर में कुल 259 मरीजों को रेफर किया गया। जिनमें से 99 डिस्चार्ज हो गए और 16 की मौत हो गई। अब तक वहां 134 मरीज अपना उपचार करा रहे हैं।

अर्थदंड वसूल किया
इधर निगम प्रशासन का भैंस खटालों के खिलाफ भी कार्रवाई लगातार जारी है। जोन 1 के रावण भाठा सुपेला के खटाल संचालक कमलेश यादव से 9 हजार, राजेन्द्र कुमार से 10 हजार रुपए, टुकेन्द्र कुमार यादव से 15 हजार कुल 34 हजार रुपये अर्थदण्ड वसूल किया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned