रेप के बाद प्रेग्नेंट हो गई नाबालिग लड़की, जब कोर्ट पहुंचा मामला तो जज ने दी गर्भपात की इजाजत, सकते में परिजन

गर्भपात के बाद भ्रूण का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। पुलिस का कहना है कि डीएनए रिपोर्ट से स्पष्ट हो जाएगा कि वास्तव में नाबालिग के गर्भ में पल रहा भू्रण आरोपी का ही है। (Rape case in Durg)

By: Dakshi Sahu

Published: 26 May 2020, 12:33 PM IST

दुर्ग. दुष्कर्म के एक प्रकरण में नया मोड़ आ गया है। दरअसल नाबालिग के गर्भवती होने की सूचना से पूरा परिवार सकते में है। नाबालिग का विधिवत गर्भपात कराने का आदेश मिलने के बाद पुलिस भी इस प्रकरण में आरोपी को सजा दिलाने साक्ष्य एकत्र करने में जुट गई है। गर्भपात के बाद भ्रूण का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। पुलिस का कहना है कि डीएनए रिपोर्ट से स्पष्ट हो जाएगा कि वास्तव में नाबालिग के गर्भ में पल रहा भू्रण आरोपी का ही है।

विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम गठित
दुर्ग पुलिस डीएनए कराने के लिए न्यायालय से अनुमति ले चुकी है। नाबालिग तीन माह की गर्भवती है। एक्ट के तहत नाबालिग ने स्वास्थ्य विभाग को आवेदन दिया था। आवेदन को मेडिकल बोर्ड में रखने के बाद टीम ने परिस्थितियों को देखते हुए गर्भपात कराने का अनुमति दी। गर्भपात करने के लिए दो स्त्री रोग विशेषज्ञों की टीम बनाई गई है।

जानकारी के मुताबिक जिस दिन गर्भपात होगा उसी दिन भू्रण, नाबालिग और आरोपी का डीएनए के लिए ब्लड सैंपल कलेक्ट किया जाएगा। ब्लड सैंपल कलेक्ट करने के बाद आरोपी को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में अस्पताल लाया जाएगा। इसके बाद विशेष टीम द्वारा सैंपल को रायपुर फोरेंसिक लैब भेजा जाएगा। जहां भू्रण और दोनों का ब्लड डीएनए मैच किया जाएगा।

प्रेमजाल में फांसा
पीडि़त ने जब शादी के लिए दबाव बनाया तो आरोपी ने शादी करने से साफ इनकार कर दिया। इस मामले में पुलिस ने पॉक्सो एक्ट और दुष्कर्म की धारा के तहत एफआईआर दर्ज कर आरोपी को जेल भेजा है। जानकारी के मुताबिक मामला थाना आने से पहले नाबालिग के परिजनों ने आरोपी से संपर्क किया था, तब आरोपी ने नाबालिग के साथ किसी तरह का कृत्य करने से इनकार कर दिया था। नाबालिग स्वयं परिजनों को लेकर शिकायत करने थाना पहुंची थी।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned