ट्रेन में सवार होकर 80 लीटर शराब और गांजा लेकर पहुंचा तस्कर, लॉकडाउन में खपाने से पहले चढ़ा पुलिस के हत्थे

ओडिशा से गांजा और शराब की अवैध तस्करी करके दुर्ग आए युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी युवक अवैध शराब और गांजा को लॉकडाउन में जिले में खपाने की फिराक में था।

By: Dakshi Sahu

Updated: 02 May 2021, 12:34 PM IST

भिलाई. ओडिशा से गांजा और शराब की अवैध तस्करी (illegal liquor ) करके दुर्ग आए युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी युवक अवैध शराब और गांजा को लॉकडाउन (Lockdown in Durg) में जिले में खपाने की फिराक में था। इससे पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गया। मिली जानकारी के अनुसार दुर्ग तितुरडीह निवासी गोकुल कुमार के कब्जे से पुलिस ने 80 लीटर शराब और तीन किलो गांजा बरामद किया है। आरोपी युवक ओडिशा से पुरी एक्सप्रेस पर सवार होकर दुर्ग आया। ऑटो का इंतजार करते हुए जैसे ही स्टेशन की गेट के बाहर पहुंचा घात लगाए बैठी मोहन नगर पुलिस ने उसे दबोच लिया। पुलिस ने आरोपी के झोला की तलाशी ली। झौला में अवैध शराब और गांजा देखकर दंग रह गई। पुलिस (Durg police) ने आरोपी के खिलाफ धारा 20(ख) नारको एक्ट और 34 (2) आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की।

Read more: लॉकडाउन में फेरीवाला बनकर 52 किलो गांजा की तस्करी, पुलिस से बचने बाइक में रायपुर से यूपी जा रहा था तस्कर ....

पुलिस की पूछताछ में हड़बड़ा गया आरोपी युवक
दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि नशामुक्ति अभियान जियो खुलकर के तहत बढ़ते अपराधों पर नियंत्रण व अंकुश हेतु क्षेत्र में लगातार धरपकड़ अभियान चलाया जा रहा है। इसी बीच सूचना मिली कि रेलवे चालक परिचालक संयुक्त विश्राम गृह दुर्ग के पास एक व्यक्ति दुर्ग-पुरी ट्रेन से उतरा है। 3 बैग और दो थैला लेकर जा रहा है। उसकी गतिविधियां संदिग्ध लग रही है। मोहन नगर टीआई बृजेश कुशवाहा को टीम के साथ मौके पर बुलाकर दबिश दी गई। तितुरडीह वार्ड-22 निवासी गोकुल कुमार (38 साल) 3 बैग और दो थैला लिए खड़ा था। संदेह के आधार पर उसे पकड़ा गया। उससे पूछताछ की तो वह हड़बड़ा गया। बैग की तलाशी ली गई तो कब्जे से देशी शराब और गांजा मिला।

सूने मकान से ज्वेलरी और नकदी पार
भिलाई के घासीदासनगर बांबे आवास निवासी मुकेश कुमार (35 वर्ष) के घर में चोरी हो गई। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ चोरी के प्रकरण दर्ज कर मामले को जांच में लिया है। जामुल थाना पुलिस ने बताया कि 10 अप्रैल को घर में ताला लगाकर परिवार के साथ अपने माता-पिता के घर कैम्प-1 में गया था। 27 अप्रैल को पड़ोसी ने फोन पर जानकारी दी कि घर में चोरी हो गई है। वहा से लौटक घर आया देखा कि आलमारी में रखे सोने का मंगलसूत्र, सोने की 2 अंगूठी, सोने के कान का 2 रिंग, सोने का मोती दाना, सोने का नथ, बच्चों का चांदी का चूड़ा 6, चांदी का पायल 2,चांदी का लॉकेट 2 और 15 हजार रुपए नकद चोरी कर ले गए।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned