टीवी में चमत्कारी औषधि का विज्ञापन देकर लोगों को फंसाता था ढोंगी बाबा

सिटी कोतवाली पुलिस मेरठ उत्तरप्रदेश के ऐसे गोल्ड मेडलिस्ट बाबा सलीम खान को गिरफ्तार किया है जो तंत्र मंत्र और चमत्कारी औषधि के नाम पर ठगी कर रहा था।

दुर्ग. सिटी कोतवाली पुलिस मेरठ उत्तरप्रदेश के ऐसे गोल्ड मेडलिस्ट बाबा सलीम खान को गिरफ्तार किया है जो तंत्र मंत्र और चमत्कारी औषधि के नाम पर ठगी कर रहा था। फोन पर समस्याएं सुनकर लाखों रुपए अपने बैक एकाउंट में जमा कराने के बाद वह फोन उठाना बंद कर देता था। पुलिस ने 33 वर्षीय मोहम्मद राजिद उर्फ बाबा सलीम खान पिता मोहम्मद को न्यायालय में प्रस्तुत किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

दुर्ग रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार
एएसपी राजेश अग्रवाल ने बताया कि चमत्कारी बाबा के खिलाफ सिटी कोतवाली दुर्ग में एफआईआर किया गया था। कसारीडीह निवासी दीपक गीते की शिकायत पर बाला सलीम के खिलाफ औषधि चमत्कारी निवारण अधिनियम 1954 की धारा सात और 420,384 के तहत प्रकरण तैयार किया गया। एफआईआर करने के बाद पुलिस मेरठ भी गई, लेकिन आरोपी का पता नहीं चला। बाद में मेरठ क्राइम ब्रांच के मदद से दबाव बनाया गया। जैसे ही आरोपी दुर्ग रेलवे स्टेशन पहुंचा पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

लकवाग्रस्त पिता के लिए किया था संपर्क
पीडि़त दीपक गीते ने पुलिस को बताया कि उसके पिता गोविंद गीते लकवाग्रस्त है। इसी बीच उनका ब्रेन हेमरेज हो गया। चमत्कारी बाबा का नाम सुनकर वह फोन पर संपर्ककिया था। बाबा ने तंत्रमंत्र के प्रभाव से पूर्ण ठीक करने का दावा किया। तांत्रिक प्रक्रिया शुरु करने से पहले बाबा ने उसे अपना एकाउंट नंबर दिया और कभी मुर्गी तो कभी बकरे की बली कराने के नाम पर रुपए जमा करता रहा। बाबा के झासे में आकर दीपक ने कुल 157500 रुपए दे चुका था।

मौत होने का बाबा ने दिखाया भय

रुपए देने के बाद भी पिता की हालत में सुधार नहीं होने पर दीपक ने फिर से फोन किया और शिकायत किया कि उसके पिता ठीक नहीं हो रहे हैं। उसका विश्वास टूट चुका है। इस पर बाबा ने फोन पर तंत्र प्रयोग तगड़ा होने और जल्द ही परिवार में एक व्यक्ति की मृत्यु होने की सूचना दी। इसके बाद वह फोन उठाना बंद कर दिया।

स्वंय को गोल्ड मेडलिस्ट बताता था

सलीम खान स्वयं को तंत्र मंत्र विज्ञान में गोल्ड मेडलिस्ट होना बताता था। उसे किसने गोल्डमेडल और कहां से दिया था इस संबंध में पुलिस को कुछ नहीं बता पाया। बता दें कि गोल्डमेटल देश के नामी ज्योतिष संस्थानों से दिए जाते हैं। तंत्र-मंत्र में किसी भी यूनिवर्सिटी से डिग्री नहीं मिलती है। बाबा ने लोगों को झांसा देने टीवी और अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराता था। पीडि़त दीपक गीते भी टीवी पर विज्ञापन देख फोन से संपर्क किया था।

सुपेला में भी अपराध दर्ज

पुलिस ने बताया कि अटल आवास नेहरु नगर निवासी मुन्ना वर्माने अपनी समस्या बाबा सलीम खान को बताया था। मुन्ना वर्मा बेहद गरीब है। वह मजदूरी कर कुछ पैसे बचा रखा था। पत्नी को कैंसर होने पर वह ईलाज छोड़ चमत्कारी बाबा से संपर्ककिया था। बाबा ने कैंसर को ठीक करने का दावा करते हुए अपने एकाउंट में 54000 रुपए जमा करा लिया था। इस मामले में सुपेला पुलिस ने एफआईआर किया है।

आप रहे सावधान
एएसपी राजेश अग्रवाल ने नागरिकों से अपील की है कि वे किसी भी तंत्र मंत्र व कथित बाबा के ऊपर विश्वास न करे। विज्ञापन से प्रभावित होकर न ही उनके खाता में रुपए डाले और न ही अपना एटीएम का पासवर्ड बताए। होटल व लॉज में ठहर कर ज्योतिष के नाम पर रत्न और रुद्राक्ष देने वाले बाबा से संचेत रहे। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह का डराने धमकाने व तंत्र मंत्र की आड़ में ठगी करने वाले के खिलाफ तत्काल थाना पहुंचकर लिखित शिकायत करें।
Show More
Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned