Corona के हर संभावित मरीज को जांच के साथ दी जाएगी दवाई, रोग निरोधी किट से संक्रमण रोकने बड़ी पहल

Coronavirus के लक्षण और प्राइमरी कान्टैक्ट वाले लोगों को अब इलाज के लिए टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। ऐसे लोगों को अब जांच के दौरान ही दवाइयां यानी रोग निरोधी किट (प्रोफिलैक्टिक किट) दे दिया जाएगा।

 

By: Dakshi Sahu

Published: 17 Apr 2021, 11:42 AM IST

दुर्ग. कोरोना के लक्षण और प्राइमरी कान्टैक्ट वाले लोगों को अब इलाज के लिए टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। ऐसे लोगों को अब जांच के दौरान ही दवाइयां यानी रोग निरोधी किट (प्रोफिलैक्टिक किट) दे दिया जाएगा। दुर्ग कलेक्टर (Durg collector) डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने इसे संबंध में निर्देश जारी किया है। माना जा रहा है कि इससे संभावित मरीजों की तत्काल इलाज शुरू हो सकेगी और गंभीर स्थिति नहीं बनेगी। जिले भर में कोरोना के संदिग्ध मरीजों के पहचान के लिए इन दिनों अभियान चलाकर सर्वे का कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि सर्वे के दौरान ही कोरोना के लक्षण वाले लोगों अथवा कोरोना पॉजिटिव के निकट संपर्क में आए लोगों को रोगनिरोधी किट तुरंत मौके पर ही दे दिया जाए ताकि त्वरित दवा मिलने पर उनका त्वरित ही इलाज आरंभ हो जाए। बताया जा रहा है कि इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा बड़ी संख्या में किट तैयार कराया गया है।

Read more: किट का टोटा, रोजाना 3000 एंटीजन किट की जरूरत, नहीं मिली तो दूसरे जिले से उधार लेकर करना पड़ रहा जांच ...

मेडिकल में बंदिश से परेशानी
इससे पहले संक्रमण की स्थिति में भी स्थानीय स्तर पर दवाइयां खाकर टेस्ट नहीं कराने और खतरा बढऩे की आशंका को देखते हुए मेडिकल स्टोर्स में डॉक्टर की पर्ची के बिना सर्दी, खांसी व बुखार की दवाईयों के विक्रय पर बंदिश लगा दी गई थी। इससे संक्रमण की आशंका के बाद भी लोगों को दवाइयां नहीं मिल पा रही थी। इससे मामूली सर्दी, खांसी के मरीज भी परेशान हो रहे थे।

टेस्टिंग की कमी से भी दिक्कत
माना जा रहा है कि मेडिकल स्टोर्स में मामूली सर्दी खांसी की दवाई नहीं मिलने से फीवर टेस्टिंग सेंटरों में दबाव बढ़ गया था। इससे लक्षण वाले और प्राइमरी संपर्क वाले लोगों का समय पर टेस्टिंग नहीं हो पा रहा था। वहीं रिपोर्ट आने में भी देरी हो रही थी। देरी से ऐसे लोगों की तबीयत ज्यादा बिगड़ रही थी। ताजा फैसले के बाद मरीजों की तत्काल इलाज शुरू हो जाएगा और खतरे जैसी स्थिति नहीं बनेगी।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned