कोरोना संकट: अब ट्रेन से आने वाले हर यात्री की स्टेशन में होगी corona जांच, 7 दिन का होम आइसोलेशन किया अनिवार्य

कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए लगातार सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। अब ट्रेनों से शहर में पहुंचने वाले हर व्यक्ति को कोविड टेस्ट कराने का फैसला किया गया है। (Coronavirus in chhattisgarh)

 

By: Dakshi Sahu

Published: 12 Apr 2021, 11:34 AM IST

दुर्ग. covid-19 संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए लगातार सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। अब ट्रेनों से शहर में पहुंचने वाले हर व्यक्ति को कोविड टेस्ट कराने का फैसला किया गया है। इसके बिना यात्रियों को स्टेशन में उतरने की अनुमति नहीं दी जाएगी। Durg collector ने जारी निर्देश में कहा है कि Train से उतरते ही व्यक्ति का Durg railway station पर ही पहले COVID TEST किया जाएगा। टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने पर संबंधित को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एसओपी के अनुसार उसे तत्काल कोविड अस्पताल या फिर क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया जाएगा। यात्री चाहें तो अपने साथ 72 घंटे पहले कराए गए RTPCR जांच रिपोर्ट ला सकेंगे। इस रिपोर्ट के आधार पर यात्री को बिना टेस्ट घर जाने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन उन्हें अनिवार्य रूप से 7 दिन होम आइसोलेशन में रहना होगा। यात्रियों के साथ आने वाले बच्चों का भी पालकों की सहमति के आधार पर कोविड टेस्ट कराया जाएगा।

श्रमिकों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और इसमें उत्पन्न विषम परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश के भीतर कार्यरत व अन्य राज्यों में रोजगार के लिए प्रवास पर गए श्रमिकों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। श्रमिक जिन्हे वर्तमान कार्यस्थल पर कोई समस्या हो, या रेल अथवा बस के माध्यम से छत्तीसगढ़ मे वापसी पश्चात गृह नगर जाने में अथवा कोविड-19, कोरोना वायरस से संबंधी कोई समस्या हो तो ऐसे समस्या को श्रम विभाग के श्रम सुविधा केंन्द्र (हेल्प लाइन सेंटर) से परामर्श व आवश्यकता अनुसार सहयोग के छत्तीसगढ़ श्रम कल्याण मंडल, शांति नगर रायपुर के मोबाइल नंबर 9109849992, व दूरभाष नंबर 0771-2443809 पर संपर्क किया जा सकता है। यह सुविधा श्रमिकों के लिए 24 घंटे होगी ।

कोरोना के निशाने पर युवा,कलेक्टर ने कहा बहुत सतर्क रहें, हो रहा गंभीर संक्रमण
कोरोना से जिले में हो रहे संक्रमण की समीक्षा करने पर पाया गया है कि जिले में कोविड से युवा भी गंभीर रूप से संक्रमित हो रहे हैं। कुछ की मृत्यु भी इससे हो रही है। कम उम्र के युवाओं को भी इससे संक्रमण हो रहा है। इससे यह स्पष्ट है कि कोरोना को लेकर हर आयु वर्ग के लोगों को बेहद एहतियात रखने की जरूरत है। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने युवाओं से अपील की है कि कोविड के खतरे की गंभीरता को देखते हुए बेवजह बाहर निकलने का किसी तरह से जोखिम ना लें। इसके उन्हें गंभीर संक्रमण का खतरा तो हो ही सकता है। इसके साथ ही वे संक्रमण अपने घर के बुजुर्गों और कम प्रतिरोधक क्षमता वाले परिजनों को तक पहुंचा सकते हैं। कलेक्टर ने कहा है कि लक्षण उभरते ही अथवा पॉजिटिव मरीज के निकट संपर्क में रहने पर तुरंत ही टेस्ट कराएं। चिकित्सक के परामर्श पर होम आइसोलेशन या फिर अस्पताल में भर्ती किए जाने से संबंधित कार्रवाई की जाएगी।

टेस्ट के नतीजे आने तक अपने आइसोलेशन का पूरा ध्यान रखें। इस संबंध में किसी भी तरह की लापरवाही आपके परिजनों को संकट में डाल देगी। उन्होंने अपील की है कि कोविड के खतरे के संबंध में किसी भी तरह से लापरवाही न बरतें, मास्क का उपयोग करें सैनिटाइजर का उपयोग करें। समय समय पर हाथ धोते रहें, बेवजह घर से बिल्कुल भी बाहर ना निकले। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के माध्यम से मरीजों तक दवा पहुंचाई जा रही है और मरीजों की काउंसिलिंग की जा रही है। किसी भी तरह की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। इस कठिन घड़ी में संयम और संकल्प बरतने से कोरोना संक्रमण को थामने में मदद मिलेगी।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned