चातुर्मास प्रवचन: व्यवस्थित जीवन जीने वाले हर क्षेत्र में सदा आगे बढ़ते हैं- मणिप्रभाश्री

चातुर्मास प्रवचन: व्यवस्थित जीवन जीने वाले हर क्षेत्र में सदा आगे बढ़ते हैं- मणिप्रभाश्री

Satya Narayan Shukla | Publish: Aug, 12 2018 09:23:10 PM (IST) Durg, Chhattisgarh, India

चातुर्मास प्रवचन में साध्वी मणिप्रभाश्री ने कहा कि मनपूर्वक सत्संग से अशुभ से शुभ में आने की प्रवृत्ति और आत्मशुद्धि में रूचि बढ़ती हैं।

दुर्ग. चातुर्मास प्रवचन में साध्वी मणिप्रभाश्री ने कहा कि मनपूर्वक सत्संग से अशुभ से शुभ में आने की प्रवृत्ति और आत्मशुद्धि में रूचि बढ़ती हैं। आत्मज्ञान को समझने वालों को व्यक्तित्व के विकास का अवसर जरूर मिलता हैं। आत्मा का अस्तित्व सदा हैं,पर यह समझने का अवसर उन्हें मिलता हैं जो समय का मूल्य समझता है। जो मनुष्य इस भव में समय का मूल्य समझता है वह अपनी दिनचर्या पूर्ण रूप से व्यवस्थित रखता हैं। ऐसे लोग बहुत है जो समय का मूल्य नहीं समझते। जिनकुशल दादाबाड़ी मालवीय नगर में रविवार को प्रवचन सुनने के लिए भीड़ जुटी थी।

समय की उपयोगिता समझने का अवसर मनुष्य जीवन ही
साध्वी ने कहा कि समय का मूल्य न समझने वालों की संख्या बहुत है। ऐसे लोगों के पास संस्कारों की संपदा नहीं होती। जीवन में समय की उपयोगिता समझने का अवसर मनुष्य जीवन ही हैं। जिनका जीवन व्यवस्थित होता है, उनके पास समय की कमी नहीं होती। जिन्हें जीवन जीने की कला आती है, उनका जीवन कमाल का होता हैं। व्यवस्थित जीवन जीने वाले हर क्षेत्र में सदा आगे बढ़ते हैं। उन्होंने बताया कि जैन धर्म शास्त्र उत्तराध्ययन सूत्र में व्यक्ति को जीवन किस तरह जीना चाहिए, इसकी कला बताई गई हैं।

खुद का समझने का अवसर मानव जीवन
मनुष्य जीवन को स्वयं को समझने का अवसर बताते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया को समझने वाले जीव को स्वयं को समझने का अवसर भी मनुष्य जीवन में ही मिलता है। स्वयं को समझने के लिए शरीर का कोई समय नहीं हैं। शरीर आत्मा-जागृति का माध्यम मात्र हैं। इस भव में आत्मा को समझने की समझ आनी चाहिए।

विवेकवान सुख बांटकर होते हैं खुश
सामान्य और ज्ञानी व्यक्ति के बीच व्यवहार में अंतर को समझाते हुए उन्होंने कहा कि सामन्य व्यक्ति की रुचि अपनी वेदना दूसरों को सुनाने में और संवेदना पाने में अधिक होती है, किंतु विवेकी ज्ञानी पुरूष समझ भाव के साथ वेदना भोगते हैं। वे दूसरों के साथ सुख बांट कर खुश होते हैं। दूसरों के दु:ख को दूर करने में रूचि रखते हैं।

Ad Block is Banned