सोशल प्राइड: ससुर ने बेटे के मरने का गम भुलाकर विधवा बहू की रचाई दूसरी शादी, बेटी बनाकर किया विदा

एक ससुर ने अपनी विधवा बहू की सूनी जिंदगी को फिर से खुशहाल बनाने के लिए उसकी दूसरी शादी करवाकर अनोखी मिसाल पेश की है।

By: Dakshi Sahu

Updated: 16 Dec 2020, 02:59 PM IST

भिलाई. एक ससुर ने अपनी विधवा बहू की सूनी जिंदगी को फिर से खुशहाल बनाने के लिए उसकी दूसरी शादी करवाकर अनोखी मिसाल पेश की है। बेटे के मौत के बाद गमजदा बहू को न सिर्फ बेटी बनाया बल्कि उसका घर भी बसा दिया। विवाह के महज डेढ़ साल के भीतर ही बेटे के निधन के बाद भिलाई निवासी अनुग्रह नारायण ने बहू रति सिंह को बेटी बनाकर उसे नई जिंदगी दी। एक सप्ताह पहले बहू को शादी कराकर ससुराल विदा किया है। बीएसपी के मशीन शॉप 2 में सीनियर मैनेजर के पद से सेवानिवृत्त हुए शांतिनगर निवासी अनुग्रह नारायण सिंह ने बताया कि उनके बड़े बेटे मृत्युंजय सिंह का विवाह मई 2017 में कुम्हारी निवासी हरेन्द्र सिंह की बेटी रति सिंह के साथ हुआ था। अपनी बेटी शगुन के जन्म से मृत्युंजय व रति का जीवन खुशियों से भर गया था,लेकिन यह खुशी ज्यादा दिन न रह सकी। नवंबर 2018 में मृत्युंजय सिंह का निधन हो गया। इसके बाद उनकी बिटिया शगुन को चाचा अभिषेक व चाची पूनम सिंह ने विधिवत गोद ले लिया।

रिश्तेदारों ने भी दी बहू की दूसरी शादी की सहमति
पति के असमय निधन से बहू टूट सी गई थी और वह हमेशा उदास रहने लगी। बहू की उदासी ससुर अनुग्रह नारायण सिंह को रह रहकर कचोटने लगी। आखिरकार उन्होंने बहू की दूसरी शादी कराने का मन बनाया। परिवार के सदस्यों और बहू के मायके पक्ष की सहमति के बाद महिला के लिए रिश्ते की तलाश शुरू हो गई। आखिरकर रति सिंह के जीवन में दोबारा नए रंग भरे गए। पिछले सप्ताह ही बिहार के आरा जिला पीपरपाटी गांव के मूल निवासी रमेश सिंह के साथ उसका विवाह हुआ। इस विवाह का सारा खर्च ससुर अनुग्रह नारायण सिंह ने उठाया और बेटी बनाकर अपने घर से बहू को खुशी-खुशी विदा किया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned