कोरोना संकट में सहारा बना मनरेगा, 72 हजार से ज्यादा ग्रामीणों को मिल रहा रोजगार

कोरोना संकट में बेरोजगारी की स्थिति में पहुंच चुके ग्रामीण श्रमिकों के लिए मनरेगा कारगर साबित हो रहा है। स्थिति यह है कि अब तक जो श्रमिक काम पर नहीं निकलते थे, वे भी मनरेगा से जुड़ रहे हैं। इस कारण इस बार पिछले साल की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा श्रमिक मनरेगा में पहुंच रहे हैं। पिछले साल मई के पहले सप्ताह में केवल 36 हजार श्रमिक मनरेगा में काम कर रहे थे, वहीं इस बार यह आंकड़ा 72 हजार 242 पहुंच गया है।

By: Hemant Kapoor

Published: 10 May 2020, 08:18 PM IST

दुर्ग. कोरोना संकट के कारण पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है। लॉक डाउन में रोजगार सृजन करने वाले अधिकतर उद्योग व दूसरी इकाइयां बद हो गई है। इससे देशभर में श्रमिक बेरोजगारी की स्थिति में पहुंच गए हैं। बेरोजगारी के कारण श्रमिकों को गंभीर आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। प्रदेश में ग्रामीण श्रमिकों को इस संकट से बचाने के लिए मनरेगा के तहत काम शुरू कराए गए हैं। इसमें बड़ी संख्या में श्रमिक जुड़कर विपरीत स्थिति में भी रोजगार प्राप्त कर रहे हैं।


रोजगार के साथ कल को संवारने की जुगत
जिले में मनरेगा से श्रमिकों को न सिर्फ रोजगार दिया जा रहा है, बल्कि जल संग्रहण और भूमि सुधार से जुड़े कार्यों को अंजाम देकर कल को संवारने की भी जुगत की जा रही है। सरकार के नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी प्रोजेक्ट के जोड़कर वाटर रिचार्ज और सिंचाई के साधनों की व्यवस्था की जा रही है। इससे ये काम ग्रीष्म में जल संकट और बारिश में सिंचाई की समस्या से निपटने में सहायक होंगे।


सीएम के इलाके में बेहतर रूझान
मनरेगा के कामों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्वाचन क्षेत्र में सर्वाधिक रूझान सामने आ रहा है। जिले में इस समय 9 हजार 450 कामों में 72 हजार 242 श्रमिक लगे हैं। इनमें से आधे से भी ज्यादा 4 हजार 926 काम अकेले पाटन में कराए जा रहे हैं। पाटन में 28 हजार 321 श्रमिक इन कामों में लगे हैं।


केवल काम नहीं नियमों का भी पालन
मनरेगा के हर काम में सैकड़ों की संख्या में भीड़ जुट रहे है, इसके बाद भी कोरोना से बचाव के उपायों पर पूरी गंभीरता से ध्यान दिया जा रहा है। काम शुरू करने से पहले सेनेटाइजेशन के साथ पूरे समय सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जा रहा है। काम के दौरान श्रमिक मास्क और बार-बार हाथ धोने जैसे उपायों का भी पूरी गंभीरता से पालन कर रहे हैं।

कहां कितने काम व मजदूर

ब्लॉक - कामों की संख्या - मजदूर
धमधा - 3394 - 28627
दुर्ग - 1130 - 15294
पाटन - 4926 - 28321
टोटल - 9450 - 72242

Hemant Kapoor Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned