scriptMore than one thousand children did not get admission under RTI | RTE के पहले चरण में 2 हजार बच्चों को सीट आवंटित, ऑनलाइन प्रक्रिया के कारण 1000 से ज्यादा चूके मनचाहे स्कूल में पढऩे से | Patrika News

RTE के पहले चरण में 2 हजार बच्चों को सीट आवंटित, ऑनलाइन प्रक्रिया के कारण 1000 से ज्यादा चूके मनचाहे स्कूल में पढऩे से

RTE की सीटों के लिए जिन 2005 बच्चों को सीट अलॉर्ट की गई थी, उनमें से मात्र 1734 बच्चों का ही एडमिशन हुआ है। यानी कुल सीटों में से मात्र 25 फीसदी बच्चों का एडमिशन हो पाया

दुर्ग

Published: August 22, 2021 05:25:39 pm

भिलाई. शिक्षा के अधिकार के तहत निजी स्कूलों की 25 फीसदी सीटों पर एडमिशन के लिए पहले चरण की सीट आवंटित कर दी गई है। दुर्ग जिले के 540 स्कूलों में 6 हजार 775 सीटों में से 2001 बच्चों को यानी मात्र 25 फीसदी बच्चों को ही एडमिशन मिल पाया है। आरटीई के पोर्टल पर ऑनलाइन फार्म भरने की वजह से 1 हजार से ज्यादा बच्चों के फार्म अपूर्ण रह गए। जिसकी वजह से उन्हें प्रक्रिया में शामिल ही नहीं किया गया। जबकि 1 हजार से ज्यादा बच्चे है, जिन्हें मनचाहे स्कूल में प्रवेश नहीं मिल पाया। विभाग के अधिकारियों के मुताबिक शहर के नामी सीबीएसई स्कूलों में ही पैरेंट्स ज्यादा रूचि लेते हैं, और रेंडमली लॉटरी होने की वजह से सभी बड़े स्कूलों की सीटें पहले चरण में ही भर गई है।
RTE के पहले चरण में 2 हजार बच्चों को सीट आवंटित, ऑनलाइन प्रक्रिया के कारण 1000 से ज्यादा चूके मनचाहे स्कूल में पढऩे से
RTE के पहले चरण में 2 हजार बच्चों को सीट आवंटित, ऑनलाइन प्रक्रिया के कारण 1000 से ज्यादा चूके मनचाहे स्कूल में पढऩे से
25 फीसदी ने लिया एडमिशन
आरटीई की सीटों के लिए जिन 2005 बच्चों को सीट अलॉर्ट की गई थी, उनमें से मात्र 1734 बच्चों का ही एडमिशन हुआ है। यानी कुल सीटों में से मात्र 25 फीसदी बच्चों का एडमिशन हो पाया। विभाग के अनुसार हर वर्ष आरटीई में औसतन 40 फीसदी तक ही एडमिशन हो पाते हैं।
हिन्दी मीडियम की सीटें खाली
आरटीई की सीटों में सबसे पहले सीबीएसई और सीजी बोर्ड की अंग्रेजी माध्यम की सीटें भरती है, उसके बाद कुछ पैरेंट्स ही हिन्दी माध्यम में दाखिला लेने पहुंचते हैं। इधर दूसरे चरण की सीटों के लिए आवेदन भी ऑनलाइन शुरू हो चुके हैं। सहायक संचालक, जिला शिक्षा विभाग अमित घोष ने बताया कि ऑनलाइन एडमिशन होने की वजह से सीटों का आवंटन राज्य स्कूल शिक्षा विभाग से हो रहा है। कोविड की वजह से एडमिशन की प्रक्रिया देर से जरूर शुरू हुई है, लेकिन अगस्त के आखिर तक पूरी प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी।
फैक्ट फाइल
कुल स्कूल- 540
कुल नोडल- 172
कुल आरटीई की सीट- 6775
कुल आवेदन- 6814
अपूर्ण आवेदन- 1060
कुल मिलता-जुलता - 590
रद्द आवेदन- 217
कुल पूर्ण स्वीकृत- 86
कुल चयनीत- 2005
इनको नहीं मिली सीट- 1001
कुल दाखिला- 1734
नहीं आए स्कूल-118
स्कूल छोडऩे वाले बच्चों की संख्या- 2

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.