डॉयल 112 पर लगाते रहे मदद के लिए फोन, इधर बुजुर्ग पिता के सामने बदमाशों ने बेटे को उतारा मौत के घाट

डॉयल 112 पर लगाते रहे मदद के लिए फोन, इधर बुजुर्ग पिता के सामने बदमाशों ने बेटे को उतारा मौत के घाट

Dakshi Sahu | Publish: Nov, 10 2018 11:15:20 AM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 11:15:21 AM (IST) Durg, Chhattisgarh, India

सोनिया गांधी नगर में बुधवार की रात 10 बजे अमित चौरसिया(33 साल) की हत्या कर दी गई। उसने घर के सामने जुआ खेल रहे युवकों को गाली देने से मना किया।

भिलाई. सोनिया गांधी नगर में बुधवार की रात 10 बजे अमित चौरसिया(33 साल) की हत्या कर दी गई। उसने घर के सामने जुआ खेल रहे युवकों को गाली देने से मना किया। इसके एक युवक तैश में आ गया और अमित के सीने पर चाकू से वार कर दिया। इसके पहले अमित के पिता श्रीकांत ने भी युवकों को मना किया था। 100 व 112 में शिकायत भी कि, लेकिन आधे घंटे तक पुलिस नहीं पहुंची।

गंवानी पड़ी युवक को जान
पुलिस के नहीं आने पर अमित ने युवकों को टोका और उन्हें अपनी जान गंवानी पड़ी। अमित पर हमले के बाद पुलिस पहुंची। मौके पर ही आरोपी एन गोपालू को गिरफ्तार कर जेल भेजा। रात 9.30 बजे अमित के आने का इंतजार कर रहे उनके पिता श्रीकांत चौरसिया घर के बाहर बैठे हुए थे। तभी छह-सात युवक आए और उनके दरवाजे के सामने ही बैठकर जुआ खेलने लगे। श्रीकांत ने घर के सामने जुआ खेलने और गाली देने से मना किया।

इस पर लड़के सड़क की दूसरी तरफ जाते हुए फिर गाली दी और कहा कि अब कौन यहां जुआ खेलने से रोकता है, देखते हैं। इस पर श्रीकांत के रिश्तेदारों ने 100 और 112 में फोन कर शिकायत की। आधे घंटे बाद भी पुलिस नहीं पहुंची। युवक जुआ खेलते भी रहे और हल्ला भी मचाते रहे। रात करीब 10 बजे श्रीकांत का बड़ा बेटा अमित सेक्टर-2 स्थित पान दुकान बंद कर घर पहुंचा। पिता से कहा कि वे खाना खाकर सो जाएं और खुद भी दरवाजा बंद कर भीतर चला गया।

विरोध करने पर सीने पर किया चाकू से वार
इस बीच युवकों ने सड़क किनारे जुआ खेलते हुए फिर गाली देना शुरू कर दिया। अमित ने दरवाजा खोलकर कहा कि गाली गलौज बंद करो। इस पर युवकों ने और गालियों की बौछार शुरू कर दी। अमित युवकों को समझाने उनकी तरफ जा ही रहे थे कि दो लड़के आगे बढ़े। उनमें से एक एन गोपालू ने चाकू निकाला और अमित के सीने पर बाईं ओर वार कर दिया।

मेटाडोर से अस्पताल ले गए, डॉक्टर बोले-सॉरी
जवान बेटे को चाचा, पिता और अन्य रिश्तेदार मेटाडोर में लेकर सेक्टर-9 हॉस्पिटल पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने देखने के बाद बताया कि चोट सीधे हार्ट पर लगी है। नस कट चुकी है। बचा पाना मुश्किल है। अमित के पिता श्रीकांत ने कहा कि परिवार के सदस्यों ने जब 100 व 112 में फोन कर घर के सामने जुआ खेलने की शिकायत की तभी पुलिस गंभीरता दिखाते हुए पहुंच जाती तो मेरे बेटे अमित की जान नहीं जाती। आधे घंटे तक भी पुलिस की टीम नहीं पहुंची।

मृतक का भाई फौजी और बहन पुलिस में
अमित से छोटा भाई दिलीप कुमार फौज में है। ड्यूटी चंडीगढ़ में है। सूचना मिलने पर वह भी घर आया है। बेटी पुलिस विभाग में राजनांदगांव में है, अमित विवाहित था। उसकी पत्नी कीर्ति और एक तीन साल का बेटा भी है।

... और पत्रिका को भी मिला यही जवाब
इधर जब पत्रिका ने 112 में फोनकर इस विषय पर पूछा कि बुधवार की रात 9.30 बजे लड़के घर के सामने जुआ खेलने और हो हल्ला की शिकायत पर पुलिस टीम क्यों नहीं पहुंची, 112 में मौजूद जवान ने बताया कि जुआ खेलने की शिकायत आने पर संबंधित थाना को सूचना दे देते हैं। इसके लिए 112 वाहन नहीं भेजते। जुआ रोकने का काम क्षेत्रीय थाना और चौकी का है।

पेट्रोलिंग टीम को मिली थी सूचना
एएसपी सिटी विजय पांडेय ने बताया कि पुलिस की पेट्रोलिंग टीम को सूचना मिली थी कि सोनिया गांधी नगर में विवाद हो रहा है। टीम मौके पर पहुंचने से चंद मिनट पहले ही आरोपी ने चाकू चलाया था, उसे मौके पर ही गिरफ्तार कर धारा 302 के तहत कार्रवाई की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned