नामांतरण के नाम पर पटवारी ने मांगा रिश्वत, वाइस रिकॉर्ड कर एसडीएम के पास पहुंचा शिकायतकर्ता

दुर्ग जिले के कुरुद पटवारी द्वारा जमीन के नामांतरण के नाम पर छह हजार रुपए की रिश्वत मांगने के मामले की जांच शुरू हो गई है। इस मामले की जांच एसडीएम खेमलाल वर्मा कर रहे हैं।

By: Dakshi Sahu

Published: 12 Sep 2020, 01:29 PM IST

दुर्ग. दुर्ग जिले के कुरुद पटवारी द्वारा जमीन के नामांतरण के नाम पर छह हजार रुपए की रिश्वत मांगने के मामले की जांच शुरू हो गई है। इस मामले की जांच एसडीएम खेमलाल वर्मा कर रहे हैं। उन्होंने शुक्रवार को शिकायतकर्ता और पटवारी दोनों को अपने कार्यालय बुलाया और दोनों पक्षों का लिखित बयान दर्ज करया। शिकायतकर्ता ने जहां पटवारी कार्यालय में उससे नामांतरण के नाम पर 6 हजार रुपए मांगने का आरोप लगाया गया तो वहीं पटवारी ने अपने बयान में कहा है कि शिकायतकर्ता उनके यहां आया ही नहीं। इस पर शिकायतकर्ता ने एसडीएम को वाइस रिकार्डिंग भी सौंपी जो उसके पटवारी और उसकी सहायक महिला के बीच बात हुई। एसडीएम ने मामले में जांच करने का आश्वासन दिया है।

प्रकरण के मुताबिक पूनम उपाध्याय ने दुर्ग जिले के कुरुद मौजा अंतर्गत वार्ड-16 ढांचा भवन के अंदर के भाग में 1364 वर्गफीट का प्लॉट खरीदा था। इसका नामांतरण करवाने के लिए उसके पति कुरुद पटवारी कार्यालय पहुंचे थे। वहां पटवारी ने नामांतरण के लिए छह हजार रुपए लगने की बात कही थी। उसने जब यह कार्य निशुल्क होने की बात कही तो पटवारी ने उसे करने से मना कर दिया था। इन सभी बातों को आज शिकायतकर्ता ने अपने बयान में एसडीएम के समक्ष भी बताया। जिस पर पटवारी ने भी अपना पक्ष रखा है।

पटवारी ने लगाया आरोप साक्ष्य पेश नहीं कर सकी
आपको बता दें कि पटवारी ने एसडीएम कहा है कि उसे वहां से हटाने के लिए एक बड़ी लॉबिंग की जा रही है। इसमें मीडिया भी शामिल है। उन्होंने कुछ मीडिया कर्मियों के उपर धमकाने जैसे आरोप भी लगाएं, लेकिन वह उसका कोई साक्ष्य पेश नहीं कर सकी।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned