नॉन के गोदामों में चावल रखने नहीं जगह, इसलिए अब पीडीएस के हितग्राहियों को देंगे दो माह का चावल

नागरिक आपूर्ति निगम के गोदामों में अब भी एक लाख मिटरिक टन चावल भंडारित है। इस कारण अतिरिक्त चावल रखने की जगह नहीं है। वहीं एक नवंबर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी किया जाना है। इसके साथ ही धान के कस्टम मिलिंग से नागरिक ऑपूर्ति निगम के गोदामों में चावल आना शुरू हो जाएगा।

दुर्ग. सरकारी राशन दुकानों में हितग्राहियों (PDS beneficiaries) को इस बार दो माह का चावल एक साथ दिया जाएगा। इसके लिए दुकान संचालकों को एकमुश्त दो माह का चावल आवंटित करने का निर्देश दिया गया है। दरअसल नागरिक आपूर्ति निगम (civil supplies corporation) के गोदामों में अब भी एक लाख मिटरिक टन चावल भंडारित है। इस कारण अतिरिक्त चावल रखने की जगह नहीं है। वहीं एक नवंबर से समर्थन मूल्य (support price) पर धान खरीदी किया जाना है। इसके साथ ही धान के कस्टम मिलिंग (custom milling) से नागरिक ऑपूर्ति निगम के गोदामों में चावल आना शुरू हो जाएगा।


अब तक ऐसे होता था आवंटन
सामान्य स्थिति में राशन दुकानों को हर माह की शुरूआत में एक महीने का कोटा आवंटित किया जाता है। इसका वितरण होने के बाद स्टॉक मिलान किया जाता है और शेष खाद्यान्न को समायोजित कर अगले महीने फिर खाद्यान्न आवंटन किया जाता है। इसकी जगह इस बार नवंबर व दिसंबर का चावल दुकान संचालकों को एकमुश्त आवंटित किया जाएगा।


15 हजार मिटरिक टन चावल होगा खाली
अफसरों के मुताबिक दुकानों में आवंटन के लिए करीब 8 लाख मिटरिक टन चावल आवंटित किया जाता है। एकमुश्त दो माह का आवंटन जारी करने से नागरिक आपूर्ति निगम के गोदामों से 15 हजार मिटरिक टन चावल निकलेगा। इससे इतने ही चावल का नया स्टॉक रखने जगह मिल जाएगी।


9 हजार मिटरिक टन का कस्टम मिलिंग बांकी
नागरिक आपूर्ति निगम के सभी गोदाम फिलहाल भरे हुए हैं। इसके चलते चालू सीजन का मिलर्स से करीब 9 हजार मिटरिक टन कस्टम मिलिंग का चावल वसूल किया जाना बांकी है। गोदाम में जगह नहीं होने के कारण मिलर्स से फिलहाल कस्टम मिलिंग का चावल जमा नहीं कराया जा रहा है।


37 लाख क्विंटल धान खरीदी की उम्मीद
पिछले साल किसानों से 37 लाख क्विंटल धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर की गई थी। धान बचने के लिए इस बार पिछले साल की तुलना में 4 हजार 500 ज्यादा किसानों ने ज्यादा पंजीयन कराया है, वहीं पिछले साल की तुलना में सवा 3 हजार हेक्टेयर ज्यादा क्षेत्रफल में धान की खेती की जा रही है। इस कारण सूखे के बाद भी इस बार पिछले साल जितनी धान की खरीदी होने का अनुमान है।


गोदाम खाली करने एकमुश्त चावल
खाद्य नियंत्रक सीपी दीपांकर ने बताया नवंबर व दिसंबर दो माह का चावल एकमुश्त आवंटित करने का निर्णय किया गया है। इससे नॉन के गोदाम में 15 हजार मिटरिक टन चावल खाली होगा। नए सीजन में धान खरीदी व कस्टम मिलिंग को देखते हुए गोदामों को खाली करने के मकसद से एकमुश्त आवंटन किया जा रहा है।

Hemant Kapoor
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned