दुर्ग.

दुर्ग पुराना बस स्टैंड के पास दोनों समुदाय के जुलूस सद्भावना के रंग में रंग गए। एक दूसरे को गले मिलकर त्यौहार की बधाइयां दी। देखने वालों ने इस पल को ऐतिहासिक कहा और गंगा जमुना तहजीब की मिसाल दी। अवसर था जश्ने ईद मिलादुन्नबी और प्रकाश पर्व का।


रविवार को मुस्लिम समाज और सिख समुदाय का त्योहार था। इस मौके दोनों समाज मस्जिद और गुरुद्वारा से दोपहर में जुलूस निकाला और शहर भ्रमण करते हुए दुर्ग पटेल चौक पर पहुंचे। यहां एक दूसरे से मिलकर सद्भावना की मिसाल पेश की। इस दौरान इस नजारे को देखने राहगीरों के कदम ठिठक गए। यह नजारा अपने आप में ऐतिहासिक रहा। शासन प्रशासन भी इसकी तारीफ की।


दुर्ग पुराना बस स्टैंड दरगाह से लेकर इंदिरा मार्केट तक एक से दो घंटे तक जुलूस रुके हुए थे। एक दूसरे को त्योहार की बधाइयां देते रहे और एक दूसरे के जुलूस में जाकर समाज के धर्मगुरुओं को माला पहनाकर स्वागत किया। जुलूस में शामिल लोगों को शीतल पेय और खीर,चना का वितरण किया।

[MORE_ADVERTISE1][MORE_ADVERTISE2]

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned