scriptRation was given to the disabled by bringing them home | दिव्यांग जा नहीं सकती राशन दुकान, दुकानदार ई-पॉश मशीन लेकर पहुंचा घर और दिया खाद्यान्न | Patrika News

दिव्यांग जा नहीं सकती राशन दुकान, दुकानदार ई-पॉश मशीन लेकर पहुंचा घर और दिया खाद्यान्न

दोनों पैरों से लाचार युवती की परेशानी ऐसी कि घर में कोई भी जिम्मेदार नहीं है और वह खुद चल फिर नहीं सकती इसलिए सरकारी कोटे का खाद्यान्न लेने राशन दुकान तक भी नहीं जा सकती। ऐसे में कलेक्टर जनदर्शन उसके लिए वरदान साबित हुआ। दिव्यांग ने कलेक्टर सर्वेश्वर भुरे को अपनी व्यथा बताई।

दुर्ग

Published: April 11, 2022 11:31:49 pm

कलेक्टर ने मानवता का मिसाल पेश करते हुए व्यवस्था से हटकर दिव्यांग के लिए राशन वितरण की व्यवस्था कराई। कलेक्टर के निर्देश के बाद दुकानदार खुद पॉश मशीन लेकर दिव्यांग के घर पहुंचा और उसका थंब इंप्रेशन लेकर खाद्यान्न सौंपा। कलेक्टर ने दुकानदार को हर महीने इसी तरह दिव्यांग के घर राशन पहुंचाकर देने की व्यवस्था कराई है। दिव्यांग युवती मुर्शरत परवीन पखवाड़ेभर पहले किसी तरह कलेक्टर जनदर्शन में पहुंची थी। इस दौरान उन्होंने कलेक्टर को अपनी तकलीफ बताई थी। मुशर्रत ने बताया था कि वह दोनों पैसों से लाचार और उन्हें दिव्यांगता की वजह से राशन दुकान तक दुकान तक पहुंचने में समस्या होती है। दिव्यांग की स्थिति व पीड़ा को समझते हुए कलेक्टर ने मौके पर ही फूड कंट्रोलर सीपी दीपांकर को युवती के मदद करने निर्देश दिए। इसके तुरंत बाद फूड कंट्रोलर ने दुकानदार को निर्देशित किया। इसके बाद दुकानदार ई-पास मशीन लेकर युवती के घर पहुंचे। उन्होंने ई-पास मशीन से युवती का थंब इंप्रेशन लिया और उन्हें राशन मिल गया।
दिव्यांग जा नहीं सकती राशन दुकान, दुकानदार ई-पॉश मशीन लेकर पहुंचा घर और दिया खाद्यान्न
दिव्यांग जा नहीं सकती राशन दुकान, दुकानदार ई-पॉश मशीन लेकर पहुंचा घर और दिया खाद्यान्न

माता-पिता का निधन, नहीं कोई सहारा
युवती मुशर्रत के माता-पिता का निधन हो चुका है। इसके अलावा इसके साथ कोई भी बड़ा जिम्मेदार व सहारा नहीं है। इसलिए उसे राशन के लिए खुद दुकान तक जाने की बाध्यता की स्थिति बन गई थी। दूसरी ओर दिव्यांगता की वजह से वे राशन दुकान तक नहीं पहुंच पाती। थंब इप्रेशन की अनिवार्यता की वजह से वह किसी दूसरे से भी राशन नहीं मंगा पा रही थी।

दिव्यांग दंपत्ती को कब्जामुक्त कर दिलाया घर
दिव्यांगों की समस्याओं को लेकर कलेक्टर सर्वेश्वर भुरे की सह्रदयता इससे पहले भी सामने आ चुकी है। इसी तरह पिछले दिनों धमधा के एक बुजुर्ग दिव्यांग दंपत्ति ने अपने घर में अवैध कब्जे की समस्या रखी थी। इसके बाद कलेक्टर ने एसडीएम धमधा को निर्देशित कर न सिर्फ रसूखदार का कब्जा हटवाया, बल्कि घर को कब्जामुक्त कर दिव्यांग दंपत्ती को भी सौंपा। एक दिव्यांग को उन्होंने इलेक्ट्रिक बैटरी युक्त गाड़ी भी दिलाया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

अमरनाथ यात्रा से पहले आतंकी साजिश नाकाम, ड्रोन को गिराया, स्टिकी बम बरामदMansoon Update:समय से तीन पहले केरल में मानसून की एंट्री, हो रही बारिश, जानिए आपके यहां कब बदलेगा मौसमIPL 2022 Final मुकाबले में बन सकते हैं ये खास रिकॉर्ड, अश्विन, चहल, शमी, बटलर सभी के पास सुनहरा मौकासावधान कोई सुन रहा है आपको, फोन पर बातें सुन दिखाए जा रहे विज्ञापनMann ki baat: केदारनाथ पर गंदगी फैला रहे श्रद्धालु , प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- तीर्थ सेवा के बिना तीर्थ यात्रा अधूरी1 जून से बदल जाएंगे ये बड़े 5 न‍ियम, आपकी जेब पर होगा सीधा असरमानापाथी हिमालय के निचले इलाके में दिखा लापता नेपाली विमान, मुस्टांग में क्रैश होने की आशंका, सवार थे 22 लोगUEFA Champions League 2022: विनिसियस जूनियर के गोल से रियाल मैड्रिड ने रचा इतिहास, लिवरपूल को हरा 14वीं बार जीता खिताब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.