नक्सल मोर्चे में तैनात STF जवान ने पत्नी के साथ मिलकर अपने ही मकान मालिक से ठग लिए 17 लाख, IG से शिकायत

मकान खरीदने के लिए रकम फाइनेंस कराने का झांसा देकर मकान मालिक के साथ ही ठगी (Fraud case in Durg) का मामला सामने आया है। पीडि़त परिवार ने आइजी से मामले की शिकायत की थी।

By: Dakshi Sahu

Published: 13 Sep 2019, 11:43 AM IST

दुर्ग. मकान खरीदने के लिए रकम फाइनेंस कराने का झांसा देकर मकान मालिक के साथ ही ठगी का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस (Durg police) ने एसटीएफ (STF Chhattisgarh)के जवान गोवर्धन मीना और उसकी पत्नी भूरा देवी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध किया है। दंपती ने पहले मकान खरीदने के लिए एग्रीमेंट किया, बाद में बैंक फाइनेंस में ट्रांजेक्शन दिखाने का अड़चन बताकर मकान मालिक दशरथ साहू से ही 17 लाख रुपए अपने खाते में जमा करा लिया। बाद में उसी राशि को मकान मालिक के खाते में ट्रांसफर कर भुगतान बताकर रकम देने से इनकार कर दिया।

Read more: गर्भवती महिलाओं की सोनाग्राफी कराते फोटो वायरल करके बुरे फंसे आयुक्त, महिला आयोग ने कहा बेहद आपत्तिजनक, होगी जांच ....

पीडि़त परिवार ने आइजी (IG Durg) से मामले की शिकायत की थी। कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक दशरथ साहू (58 वर्ष)का नयापारा में 600 वर्गफीट पर दो मंजिला मकान है। एसटीएफ के आरोपी जवान गोवर्धन मीना ने इस मकान की खरीदी के लिए 30 लाख में सौदा पक्का किया था। इसके एवज में आरोपी ने मकान मालिक दशरथ को 50 हजार रुपए दिया। इसके बाद 6 नवंबर 2017 को एलआइसी से शेष रकम फाइनेंस कराने का हवाला देकर मकान खुद और अपनी पत्नी भूरा देवी के नाम पर रजिस्ट्री करा ली।

Read more: गिरफ्तारी वारंट देखकर बिफर गए डॉक्टर साहब, घर पहुंचे SI को तेवर दिखाकर लौटा दिया बैरंग....

रजिस्ट्री में आरोपी ने 50 हजार के अतिरिक्त 3 लाख नगद देना और शेष रकम 17 लाख एलआइसी से फाइनेंस करवाकर देने की बात लिखवा ली। तीन लाख नगद की बात पर आपत्ति करने पर आरोपी ने दशरथ को सरकार की रोक और आगे लेन-देन में परेशानी होने का झांसा देकर बाद में चेक से भुगतान करने पर राजी कर लिया।

बताया फाइनेंस में ट्रांजेक्शन की अड़चन
रजिस्ट्री के बाद आरोपी ने दशरथ को एलआइसी फाइनेंस के लिए लोन की राशि के बराबरट्रांजेक्शन नहीं होने का अड़चन बातकर सहयोग मांगा। उसने दशरथ को 17 लाख अपने बैंक खाते में जमा कराने कहा। दशरथ झांसे में आ गया और उसने आरोपी के खाते में 17 लाख जमा करा दिया।

Read more: कोर्ट का वारंट देखकर परेशान डाकिया फंदे पर झूला, पेड़ पर पिता का शव देखकर चीख पड़ा बेटा....

राशि लौटाकर बता दिया भुगतान
आरोपी ने दशरथ के दिए हुए पैसे को वापस उसी के खाते में किस्तों में ट्रांसफर कर दिया और लेन-देन पूरा होने का दावा करते हुए भुगतान से इनकार कर दिया। दशरथ ने आईजी से शिकायत की थी। आइजी के निर्देश पर जांच की गई जिसमें शिकायत सही पाए जाने पर मामला दर्ज किया गया।

मकान पर भी कर लिया कब्जा
मामले में खास बात यह है कि आरोपी एसटीएफ के जवान ने मकान मालिक को झांसे में लेकर न सिर्फ धोखाधड़ी की, बल्कि मकान में भी कब्जा प्राप्त कर लिया। मकान अब भी आरोपी जवान के कब्जे में है। जवान खरीदी के दौरान एसटीएफ बघेरा में पदस्थ था। फिलहाल उसकी पोस्टिंग नारायणपुर में है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned