scriptTrying to save Piperchedi sand mine operator | रेत खदान संचालक को बचाने मिलीभगत - पंचायत ने रोपे गिनती के पौधे, इधर हरियाली दिखाने हाईकोर्ट को भेजे दी हरे-भरे पौधों की फोटो | Patrika News

रेत खदान संचालक को बचाने मिलीभगत - पंचायत ने रोपे गिनती के पौधे, इधर हरियाली दिखाने हाईकोर्ट को भेजे दी हरे-भरे पौधों की फोटो

शिवनाथ नदी पर नियमों के विपरीत रेत खनन मामले में ठेकेदार को बचाने घालमेल का खुलासा हुआ है। खनिज विभाग के अफसरों ने हाईकोर्ट तक को गुमराह करने से परहेज नहीं किया। हाईकोर्ट को भेजे गए रिपोर्ट में अफसरों ने ठेकेदार द्वारा खनन क्षेत्र में शानदार पौधरोपण बता दिया है। इसके प्रमाण में फोटोग्राफ्स भी भेजी गई है। जबकि पत्रिका की पड़ताल में स्थिति उलट सामने आया है। गांव में स्कूल के पास पंचायत द्वारा करीब 37 पौधे रोपे गए हैं। यहां भी अब कांटों के घेरे में कुछ ठूंठ ही बचे हैं

दुर्ग

Published: March 04, 2022 11:49:18 pm

शिवनाथ नदी पर पीपरछेड़ी घाट में भिलाई आर आंड्रयू मनीराज कंपनी को रेत खनन के लिए जिला प्रशासन द्वारा अनुमति दी गई। कंपनी ने पिछले गर्मी में यहां कई महीने तक रेत खनन किया। इस दौरान खदान संचालक द्वारा पर्यावरण नियमों को ताक पर रखकर न सिर्फ मनमाने ढंग से नदी में मशीनें उतारकर पानी के भीतर से रेत खनन किया गया, बल्कि पर्यावरण से संबंधित एक भी शर्त का पालन नहीं किया। इस पर जिला प्रशासन द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने पर आरटीआई एक्टिविस्ट अशोक मिश्रा ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगाई गई थी। जिस पर हाईकोर्ट ने मामले की जांच के साथ पर्यावरण नियमों का पालन नहीं होने पर लीज स्वत: निरस्त मान लिए जाने का आदेश जिला प्रशासन को जारी किया था। इस पर जिला प्रशासन द्वारा हाईकोर्ट में जांच रिपोर्ट के पर्यावरण से संबंधित नियमों का पालन कराए जाने के प्रमाण में सरपंच का पत्र और फोटोग्राफ्स जमा कराया है।
रेत खदान संचालक को बचाने मिलीभगत - पंचायत ने रोपे गिनती के पौधे, इधर हरियाली दिखाने हाईकोर्ट को भेजे दी हरे-भरे पौधों की फोटो
फाइलों में लहलहा रहे शानदार पौधे, धरातल में कांटों के बीच केवल ठूंठ

फोटोग्राफ्स में यह
आदेश में हाईकोर्ट ने नियमों का पालन नहीं होने, खनन क्षेत्र के एप्रोच रोड पर 1200 पेड़ नहीं लगाए जाने और स्कूल औऱ अस्पताल के आस-पास 2500 पेड़ नहीं लगाए जाने की सूरत में लीज को स्वत: ही रद्द माने जाने का आदेश जारी किया था। इसके जवाब में ठेकेदार द्वारा पौधरोपण कराए जाने के प्रमाण के रूप में 1500 पौधे लगाने की पुष्टि के साथ सरपंच का पत्र और फोटोग्राफ्स जमा कराया गया है। फोटोग्राफ्स में 3 से 4 फीट के बड़ी संख्या में पौधे दिख रहे हैं।

धरातल की हकीकत
पत्रिका ने फोटोग्राफ्स के अनुरूप पौधरोपण की तलाश की। नियमानुसार ये पौधे नदी के एप्रोच रोड अथवा स्कूल व अस्पताल के आसपास लगाए जाने थे। पड़ताल में केवल मिडिल स्कूल के पास कंाटों के घेरे में करीब 37 पौधे मिले। बबूल के बड़े-बड़े कांटों वाले डंगालों के घेरे में अधिकतर पौधों के केवल ठूंठ ही मिले। हाईकोर्ट को भेजे गए रिपोर्ट में 1500 पौधे लगाया जाना बताया गया है, लेकिन कोई भी ग्रामीण ऐसा स्थल नहीं दिखा पाया।

पौधे नहीं मिलने के सवाल पर गोलमोल
पत्रिका की पड़ताल में रिपोर्ट के अनुरूप पौधे नहीं मिलने के सवाल पर सरपंच से लेकर खनिज विभाग के अफसर तक गोलमोल जवाब दे रहे हैं। सरपंच ने ठेकेदार द्वारा एक हजार पौधे देने और पंचायत द्वारा लगाए जाने की बात कही, लेकिन जगह के सवाल पर टालमटोल शुरू कर दी। वहीं खनिज अधिकारी का कहना है कि उनके अफसरों ने मौका मुआयना कर रिपोर्ट दी है। वह रिपोर्ट भी उनके पास मौजूद है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: अपनी पत्नी पर खूब प्रेम लुटाते हैं इस नाम के लड़केबगैर रिजर्वेशन कर सकेंगे ट्रेन में यात्रा, भारतीय रेलवे ने जारी की सूचीनाम ज्योतिष: इन 3 नाम की लड़कियां जहां जाती हैं वहां खुशियों और धन-धान्य के लगा देती हैं ढेरजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंधन के देवता कुबेर की इन 4 राशियों पर हमेशा रहती है कृपा, अच्छा बैंक बैलेंस बनाने में रहते है कामयाबआपके यहां रहता है किराएदार तो हो जाएं सावधान, दर्ज हो सकती है एफआईआर24 हजार साल ठंडी कब्र में दफन रहा फिर भी निकला जिंदा, बाहर आते ही बना दिए अपने क्लोनअंक ज्योतिष अनुसार इन 3 तारीख में जन्मे लोगों के पास खूब होती है जमीन-जायदाद

बड़ी खबरें

नेपाल: चार भारतीय सहित 19 यात्रियों को ले जा रहा एयरक्रॉप्ट हुआ लापता, हादसे की आशंकाUniform Civil Code: मोदी सरकार का अगला एजेंडा है समान नागरिक संहिता, उत्तरखंड से शुरुआत, राज्यों में मंथनआज केरल में दस्तक दे सकता है मानसून, यूपी-बिहार सहित कई जगह बारिश का अलर्टभारत और बांग्लादेश के बीच 2 साल बाद फिर शुरू हुई ट्रेन, कोलकाता से हुई रवानाब्राजील में लैंडस्लाइड और बाढ़ से 31 की मौत, हजारों लोग हुए बेघरIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाArmy Recruitment Change: 'टूअर ऑफ ड्यूटी' के तहत 4 साल के लिए होंगी भर्तियां, फिर 25% युवाओं का पूर्ण चयनRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.