रोजाना इस पाउडर के एक चम्मच खुराक से उम्र को दें मात, ऐसे करें इस्तेमाल

रोजाना इस पाउडर के एक चम्मच खुराक से उम्र को दें मात, ऐसे करें इस्तेमाल

Soma Roy | Publish: Sep, 04 2018 02:33:02 PM (IST) दस का दम

नई दिल्ली। पोषक तत्वों की कमी और गलत लाइफस्टायल के चलते लोग उम्र से पहले बूढ़े दिखने लगे हैं। लोेगों के असमय बाल सफेद हो रहे हैं तो किसी के चेहरे पर झुर्रिरयां पड़ गई हैं। इनसे छुटकारा पाने के लिए आयुर्वेद विज्ञान में कई ऐसी गुणकारी औषधियां छिपी हुई हैं। जिनसे उम्र को मात दी जा सकती हैं।

1.इन जड़ी-बूटियों में सबसे कारकर है शतावरी। इसके सेवन से त्वचा को चमकदार एवं निखरा हुआ बनाया जा सकता है। चूंकि इसमें प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट और ग्लूटाथियोन नामक तत्व होते हैं जो उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को रोक देत है।

2.ये शारीरिक क्षमता को बढ़ाने में भी मददगार है। इसे रोजाना रात में सोने से पहले दूध के साथ लेने से मसल्स स्ट्रांग होते हैं। साथ ही शरीर का विकास सही से होता है। इसके नियमित सेवन से पुरुषों की शारीरिक क्षमता बढ़ जाती है।

3.ये पुरुषों के स्वप्न दोष की समस्या से भी निजात दिलाता है। यदि शतावरी चूर्ण और मिश्री को एक साथ पीसकर रोज इसकी पांच ग्राम मात्रा रोगी सुबह-शाम गाय के दूध के साथ लें तो उनकी ये समस्या जल्द ही दूर हो जाएगी।

4.शतावरी चूर्ण मूत्राशय संबंधित दिक्कतों को भी दूर करता है। इसके लिए व्यक्ति को शतावरी चूर्ण का आधा चम्मच गोखरू के साथ लेना होगा। इससे चार-पांच दिनों में समस्या दूर हो जाएगी।

5.शतावर का पाउडर त्वचा की सफाई के लिए भी बहुत उपयोगी है। यह एक क्लीनजर की तरह कार्य करता है। इसे चेहरे एवं हाथ-पैर की त्वचा में लगाकर कर हल्के हाथों से मसाज करने से झाइयां एवं काले दाग दूर हो जाते हैं। अगर आपके मुहासें हो तो आप प्रभावित स्थान पर दूध में मिलाकर इसका पेस्ट लगाएं। ध्यान रखें किे तब मसाज न करें।

6.शतावर घावों को भरने का भी काम करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट एवं ग्लूटाथियोन त्वचा को सूरज की अल्ट्रा वॉयलट किरणों से और प्रदूषण के पार्टिकल्स से बचाता है।

7.शतावरी चूर्ण कैंसर की रोकथाम के लिए भी बहुत उपयोगी है। इसमें उपस्थित सल्फोराफेन कैंसर से बचने में मदद करते हैं। इसमें बड़ी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इन्फ्लमाटरीज तत्व भी होते हैं, जो कैंसर के जोखिम को कम करते हैं।

8.शतावरी में मौजूद खनिज तत्व और अमीनो एसिड शराब और भांग के हैंगओवर को कम करने में भी मदद करते हैं। इसके अलावा ये शराब में मौजूद हानिकारक तत्वों से दिल को सुरक्षित रखने में मदद करता है।

9.शतावरी से वजन भी कम किया जा सकता है। इसमें कई घुलनशील एवं अघुलनशील फाइबर होते हैं जो वसा की परत को काटते हैं। इसके अलावा ये भूख को नियंत्रित करके भी कैलोरी को कम करता है।

10.शतावरी के चूर्ण को देसी घी व शहद के साथ मिलाकर खाने से स्किन को पोषक तत्व मिलते हैं। इससे स्किन चमकदार होती है। साथ ही दाग-धब्बे एवं कील-मुंहासों आदि की समस्या दूर होती है।

Ad Block is Banned