गंगा स्नान 2019 : आज के दिन डुबकी लगाने समेत कर लें ये 10 काम, होगी पुण्य की प्राप्ति

  • गंगा स्नान के दिन पितरों के नाम से भोजन निकालने से पितृ दोष से मुक्ति मिलेगी

By: Soma Roy

Updated: 12 Nov 2019, 09:54 AM IST

नई दिल्ली। कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व माना जाता है। इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है। आज गंगा स्नान का पर्व काफी खास हैं क्योंकि इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ भरणी नक्षत्र भी पड़ रही है। ऐसे में स्नान दान का शुभ संयोग बन रहा है। अगर आज के दिन कुछ खास उपाय किए जाए तो भगवान की कृपा प्राप्त की जा सकती है।

1.आज के दिन गंगा नदी में डुबकी लगाने का बहुत महत्व है। पंडित रवि मिश्रा के अनुसार डुबकी अगर नियम के अनुसार लगाई जाए तो शुभ फल देगी। इसलिए एक व्यक्ति को 3,5,7 या 12 डुबकी लगानी चाहिए।

2.डुबकी लगाते समय कुछ अन्य बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है। जो लोग तीन डुबकी लगाते हैं, उन्हें एक डुबकी लगाते समय देवी-देवताओं का ध्यान करना चाहिए। वहीं दूसरी डुबकी में अपने पूर्वजों को नाम लेना चाहिए। जबकि तीसरी डुबकी लगाते समय अपने परिवार वालों के नाम लेने चाहिए। इससे आपकी पूरी पीढ़ि को स्नान का लाभ मिलेगा।

3.गंगा स्नान के दिन डुबकी लगाने से पहले नदी में खड़े होकर सूर्य भगवान को अघ्र्य दें। इससे आपका भाग्य बलवान बनेगा।

4.अगर किसी की कुंडली में पितृ दोष है तो उन्हें आज के दिन गंगाजल से आचमन करें। अब पूर्वजों का ध्यान करते हुए उनके नाम से अन्न का दान करें।

5.जो लोग परेशानियों से घिरे रहते हैं उन्हें गंगाजल में काले तिल डालकर पीपल के पेड़ पर चढ़ाना चाहिए। इससे मुसीबतों से छुटकारा मिलेगा।

6.अगर आपके यहां कोई बीमार है तो गंगा सप्तमी के दिन गंगाजल को मंत्रों से सिद्ध कर लें। अब रोजाना इस जल को रोगी को पिलाएं। इससे वो जल्द ही स्वस्थ हो

7.गंगा स्नान के दिन डुबकी लगाने से साल भर का पुण्य प्राप्त होता है। इसलिए आज के दिन गंगा स्त्रोत का पाठ करने से व्यक्ति को जीवन में सभी सुखों की प्राप्ति होगी।

8.जो लोग आज के दिन गंगा नदी में स्नान करने नहीं जा सकते हैं वो घर पर भी इसका लाभ उठा सकते हैं। इसके लिए बाल्टी में दो ढक्कन गंगाजल मिलाएं, इसके बाद नॉर्मल पानी डालें। ऐसा करने से पूरा जल पवित्र हो जाएगा। याद रहे कि गंगाजल डालने के बाद ही दूसरा पानी मिलाएं।

9.अगर व्यापार में तरक्की नहीं हो रही है तो गंगा सप्तमी के दिन गंगाजल एक कलश में भर लें। अब हनुमान जी का कोई भी सिद्ध मंत्र 108 बार पढ़ें। इसके बाद जल में फूंक मारें। अब इस गंगाजल को अपनी दुकान में छिड़क दें। इससे बिजनेस चलने लगेगा।

10.अगर आपके घर में नकारात्मकता का वास है तो इसे दूर करने के लिए गंगा सप्तमी के दिन घर के कोनों में गंगाजल छिड़कें। इससे घर में खुशहाली आएगी।

Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned