EARTH DAY 2019- जाने धरती की कीमत, पर्यावरण को बचाने के लिए ज़रूर अपनाएं ये बातें

EARTH DAY 2019- जाने धरती की कीमत, पर्यावरण को बचाने के लिए ज़रूर अपनाएं ये बातें

Nitin Sharma | Publish: Apr, 22 2019 11:05:21 AM (IST) | Updated: Apr, 22 2019 11:05:22 AM (IST) दस का दम

  • अर्थ डे पर ये बातें धरती को बचाने के लिए जरूरी हैं।
  • बढ़ता प्रदूषण तेज़ी से पृथ्वी के सौंदर्य को खत्म कर रहा है।
  • समय रहते ये कदम उठाने समय की मांग है।

 

नई दिल्ली। दुनियाभर में 22 अप्रैल आज ही के दिन अर्थ डे यानी कि पृथ्वी दिवस मनाया जाता है। अर्थ डे सेलिब्रेट करने का मकसद दुनिया को पृथ्वी और वातावरण के महत्व के बारे में बताना है। लोगों को धरती पर बढ़ते प्रदूषण के कारण होने वाली परेशानियों से अवगत करना है। पृथ्वी और पर्यावरण संरक्षण के लिए इस दिन खास बातें ध्यान रखना और इस दिशा में संकल्प लेना प्रत्येक व्यक्ति के लिए बहुत जरूरी है। 22 अप्रैल 1970 को पहली बार अर्थ डे मनाया गया था जिसे एक अमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने शुरू किया था।

बॉलीवुड के इन हसीन और चर्चित चेहरों ने थामा राजनीति का दामन, आते ही कर दिया कमाल

1.हर व्यक्ति को ग्लोबल वार्मिंग के बारे में और उसकी वजह से धरती को होने वाले नुकसान के जानकारी होनी चाहिए और इससे धरती को बचाने की जरूरत है।

2.आप अपने स्तर पर अभियान चलाकर, रैली निकालकर लोगों को पर्यावरण के संरक्षण और संवर्धन के लिए जागरूक होने का संदेश दे सकते हैं।

3.प्रकृति के सौंदर्य को समझना जरूरी है जिसके लिए पेड़ पौधे लगाएं और धरती पर हरियाली को बढ़ावा देने के लिए खास कदम उठाएं।

4.धरती पर हरियाली बढ़ाने का संकल्प लेकर और खास मौक़ों पर पेड़-पौधे लगाकर आप धरती के अस्तित्व को बचाए रखने का प्रण लें।

5.ग्लोबल वार्मिंग के कारण बढ़ते धरती के तापमान पर नियंत्रण बहुत जरूरी है क्योंकि ग्लोबल वार्मिंग के कारण धरती के सौंदर्य को बड़ा नुकसान हो रहा है।

 

earth day 2019

6. पानी का संरक्षण और प्रबंधन आज के समय में बहुत बड़ी जरूरत है कहा गया है कि धरती पर पीने के पानी के स्रोत में तेज़ी से गिरावट आ रही है।

जीवन में सुख-समृद्धि के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स, जल्दी ही मिलेगा फायदा

7.यदि पर्यावरण को बचाए रखना है तो पानी का प्रबंधन आज के समय की सबसे बड़ी मांग है क्योंकि इसका संरक्षण आने वाली पीढ़ियों के जीवन में सुख और प्रसन्नता लाएगा।

8.बिजली यानी ऊर्जा का संरक्षण करना भी बहुत अहम है क्योंकि बिजली बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला इंधन तेज़ी से कम हो रहा है।

9.कूड़े- कचरे और गंदगी पर जल्दी ही रोक लगानी पड़ेगी, प्लास्टिक की पॉलीथीन का इस्तेमाल कम से कम करना होगा क्योंकि ये मिट्टी मे आसानी से डिकम्पोज़ नहीं हो पाते।

10.पेट्रोल एक प्राकृतिक संपदा है जो तेज़ी से खत्म होने की कगार पर पहुंच गई है इससे पहले की यह पूरी तरह से विलुप्त हो जाए इसके लिए कदम उठाने जरूरी हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned