एक लड़की की इज्जत बचाने के लिए श्मशान बने 84 गांव

Sunil Sharma

Publish: Nov, 27 2015 05:21:00 PM (IST)

दस का दम

एक लड़की की इज्जत बचाने के लिए श्मशान बने 84 गांव

1/9

क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि एक लड़की की सुन्दरता न केवल उसके परिवार को बल्कि एक साथ 84 गांवों को रातों रात सुनसान उजाड़ में बदलने पर मजबूर कर दे। जैसलमेर के पास स्थित एक गांव कुलधारा की भी कुछ ऎसी ही कहानी है। सन 1291 में पालीवाल ब्राह्मणों द्वारा बसाया गया यह गांव 8 सदियों तक खूब फला-फूला।

यहां पर पूरे भारत से और सुदूर विदेशों तक से व्यापार किया जाता था। परन्तु वर्ष 1825 में एक रात अचानक यहां सब कुछ बदल गया और कुलधारा तथा आस-पास के 84 गांव रातों रात सुनसान बीहड़ में बदल गए। सब कुछ अचानक और बिना किसी चेतावनी के हुआ।... पढिए आगे की स्लाइड्स में...

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned