समस्त संकटों को मिटाते हैं भगवान शंकर, कृपा प्राप्त करने के लिए सोमवार को करें यह काम

समस्त संकटों को मिटाते हैं भगवान शंकर, कृपा प्राप्त करने के लिए सोमवार को करें यह काम

Nitin Sharma | Updated: 01 Apr 2019, 09:51:05 AM (IST) दस का दम

  • इन उपायों को करने के लिए सोमवार का दिन महत्वपूर्ण होता है।
  • सच्चे मन से इन उपायों को करने वाला व्यक्ति कभी निराश नहीं रहता है।

नई दिल्ली। भगवान शंकर को देवों के देव महादेव के नाम से सारे संसार में जाना जाता है। भगवान शंकर के बारे में कहा जाता है कि वे बहुत ही भोले हैं और जिस व्यक्ति से एक बार प्रसन्न हो जाते हैं उसका सम्पूर्ण जीवन सुख-सुविधाओं और कृपा से भर देते हैं। भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए शास्त्रों के अनुसार सोमवार का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण और लाभकारी माना जाता है। इस दिन भगवान शंकर की पूजा और व्रत करने वाले व्यक्ति को उनकी कृपा निश्चित तौर पर प्राप्त होती है।

1.शिव कृपा प्राप्त करने के लिए प्रत्येक सोमवार भगवान शंकर के मंत्र का उच्चारण करते हुए शिवलिंग पर जल का अभिषेक करें।

2.सौभाग्य प्राप्ति के लिए शिवलिंग पर केसर अर्पण करना अत्यंत लाभकारी माना जाता है ऐसा करने वाले व्यक्ति को भगवान कभी भी निराश नहीं रहने देते।

3.अगर जीवन की दरिद्रता को खत्म करना और परिवार की शांति चाहते हैं तो जल में चीनी मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाएं आपकी यह इच्छा ज़रूर पूरी होगी।

4.भगवान को इत्र, सुगंधित फूल आदि अर्पण करने चाहिए इससे मन में गलत विचार उत्पन्न नहीं होते हैं और साथ ही मन शुद्ध भी होता है।

5.गाय के शुद्ध घी का दीपक जलाकर भगवान की आरती करनी चाहिए इसी के साथ शिवलिंग पर भी देसी घी अर्पण करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- शालिग्राम के रूप में करें भगवान विष्णु की पूजा, जीवन में मिलेंगे ऐसे फायदे

6.भगवान महादेव को दही चढ़ाने वाले व्यक्ति को भी उनकी कृपा प्राप्ति में सहायता मिलती है और जल्दी ही जीवन की परेशानियां दूर होती हैं।

7.शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाना विशेष तौर पर पुण्य फल प्राप्ति के लिए उत्तम और लाभकारी माना गया है इससे निश्चित तौर आप सुख- सुविधाएं पाते हैं।

8.भगवान को दूध से बनी मिठाई का भोग अर्पण करें और स्वयं भी ग्रहण करें साथ ही अगर घर का कोई व्यक्ति गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो उसे भी भगवान का भोग खिलाएं जल्दी लाभ मिलेगा।

9.इस दिन आप व्रत का संकल्प भी कर सकते हैं और सांय काल भगवान की पूजा के बाद पहले उन्हे भोजन का भोग लगाएँ और फिर स्वंय ग्रहण कर व्रत संपन्न करें।

10.भगवान की पूजा का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो ध्यान रखें कि पूजा और ध्यान करते समय कभी भी आपके मन में किसी के प्रति बुरा विचार ना आए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned