मदर्स डे : बच्चों की जिंदगी संवारने को इन 10 मांओं ने झेली मुसीबतें, किसी ने सुने ताने तो कोई बनी सिंगल मदर

मदर्स डे : बच्चों की जिंदगी संवारने को इन 10 मांओं ने झेली मुसीबतें, किसी ने सुने ताने तो कोई बनी सिंगल मदर

Soma Roy | Publish: May, 12 2019 12:01:13 PM (IST) | Updated: May, 12 2019 01:12:12 PM (IST) दस का दम

  • सुष्मिता सेन ने अपने करियर के पीक प्वाइंट पर एक लड़की को गोद लेने का लिया था फैसला
  • महात्मा गांधी अपनी मां की दी हुई सीख की वजह से कभी नहीं बोलते थे झूठ

नई दिल्ली। वैसे तो हर मां अपने बच्चे को एक कामयाब इंसान बनाना चाहती है। इसके लिए वो शुरू से ही कड़ी मेहनत करती है, लेकिन आज मदर्स डे के इस मौके पर हम आपको कुछ ऐसी मांओं की कहानियों के बारे में बताएंगे, जिन्होंने अपने बच्चों की जिंदगी संवारने के लिए कई मुसीबतें झेली हैं। उन्हीं के परिश्रम की वजह से आज पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर रेसलर गीता, बबिता फोगाट जैसी दिग्गज हस्तियां बन पाई हैं।

1.मशहूर भारतीय रेसलर गीता और बबिता फोगाट को देश का गौरव बनाने के लिए जितनी मेहनत उनके पिता ने की है। उतनी मेहनत उनकी मां दया फोगाट ने भी की है। हालांकि वो हमेशा पर्दे के पीछे रहकर अपनी भूमिका निभाती रहीं, लेकिन अपनी तकलीफों को कभी सामने आने नहीं दिया।

2.एक इंटरव्यू में जया फोगाट ने बताया कि वो जिस जगह से ताल्लुक रखती हैं वहां लड़कियों का घर से बाहर निकलना अच्छा नहीं माना जाता है। ऐसे में अपनी लड़कियों को पहलवानी करने के लिए प्रेरित करना तो पाप समझा जाता था। इसके लिए उन्हें अपने घर-परिवार समेत समाज के ताने सुनने पड़े थे। कई लोगों ने उन्हें खूब खरी-खोटी भी सुनाई थी। मगर उनकी बेटियों ने देश का मान बढ़ाकर सबकी बोलती बंद कर दी।

3.राष्ट्रीय पिता महात्मा गांधी को अहिंसा और सच की मूरत माना जाता है। कहते हैं कि वो कभी झूठ नहीं बोलते थे, लेकिन क्या आपको पता है उन्हें ये सीख किसने दी थी। दरअसल गांधी जी अपनी मां पुतलीबाई से बहुत प्रेरित थे। क्योंकि उनकी मां काफी निष्ठावान और धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थीं। वो रोजाना कोयल की आवाज सुने बिना खाना नहीं खाती थीं। तभी एक दिन उन्हे कोयल की आवाज नहीं सुनाई दी तो उन्होंने खाना नहीं खाया था।

4.तब गांधी जी ने उनकी भूख मिटाने के लिए आंगन में छुपकर कोयल की आवाज निकाली और अपनी मां पुतलीबाई से कहा कि देखिए कोयल आ गई। मगर उनकी मां ने तुरंत ही उनका झूठ पकड़ लिया और रोने लगीं। मां की ऐसी तकलीफ देखकर गांधी जी ने कसम खाई थी कि वे अब कभी भी झूठ नहीं बोलेंगे।

5.देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने प्रभावशाली व्यक्तित्व के लिए दुनियाभर में मशहूर हैं। मगर क्या आपको पता है उनमें सिद्धांतवादी बनने की नींव किसने डाली। दरअसल उनको देश के लिए एक जिम्मेदार व्यक्ति बनाने में उनकी मां हीराबेन मोदी का अहम योगदान रहा है।

6.पीएम नरेंद्र मोदी ने एक इंटरव्यू में बताया कि उन्हें अपनी मां से बेहद लगाव है। मगर देश के लिए जिम्मेदारी निभाने में उन्हें कोई अड़चन न आए इसके लिए उनकी मां ने कभी भी उन्हें अपने पास रहने के लिए मजबूर नहीं किया। उन्होंने हमेशा उन्हें आगे बढ़ने की सीख दी है। मोदी बताते हैं कि वे जब अपनी मां से मिलने जाते हैं तो वह उन्हें मिठाई खिलाती हैं। साथ ही सवा रुपए देती हैं।

7.मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को देश का गौरव बनाने में उनकी मां रजनी तेंदुलकर ने भी बेहद अहम भूमिका निभाई है। वो एक वर्किंग वुमन थीं। इसके बाद भी उन्होंने सचिन की परवरिश में कोई कमी नहीं रखी। इतना ही नहीं उन्होंने अपने पति की मौत के बावजूद सचिन को क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया था।

8.जिंदगी में कुछ करने की ललक सचिन को उनकी मां से ही विरासत में मिली है। क्योंकि अपने बेटे के सैटेल होने के बावजूद रजनी तेंदुलकर ने अपनी जॉब नहीं छोड़ी थी क्योंकि वो खुद जीवन में कुछ बनना चाहती थीं। वो फॉरेन डिपाटर्मेंट की एलआईसी एजेंट थीं।

9.आजकल दुनियाभर में सिंगल मदर्स बनने का काफी क्रेज है। मगर भारत में इसकी मिसाल कायम करने में पूर्व मिस यूनिवर्स और एक्ट्रेस सुष्मिता सेन ने अहम भूमिका निभाई है। दरअसल उन्होंने सिंगल मदर बनने का ये फैसला उस वक्त लिया था जब इंडस्ट्री में इसे बेहद कम लोग स्वीकार करते थे।

10.सुष्मिता ने अपनी पहली बेटी रिनी को गोद लेने का फैसला अपने करियर के पीक समय में लिया था। उस समय वो 25 साल की थीं। तब उन्हें मूवी बीवी नंबर वन के लिए काफी सराहना भी मिल रही थी। मगर साल 2000 में तभी उन्होंने अपनी पहली बेटी को गोद लिया था। इसके 10 साल बाद उन्होंने एक और लड़की को गोद लिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned