इस अक्षय तृतीया बन रहा है खास संयोग, इसलिए करें ये काम जल्द खुलेगा भाग्य

इस अक्षय तृतीया बन रहा है खास संयोग, इसलिए करें ये काम जल्द खुलेगा भाग्य

Nitin Sharma | Publish: May, 05 2019 10:43:59 AM (IST) | Updated: May, 05 2019 10:44:01 AM (IST) दस का दम

  • अक्षय तृतीया के दिन पूजा करने से लक्ष्मी जी की कृपा मिलती है।
  • धार्मिक तौर पर भी अक्षय तृतीया का पर्व शुभ माना गया है।
  • जीवन को दोष मुक्त बनाने के लिए ये दिन बहुत खास होता है।

नई दिल्ली। 7 मई 2019 को मनाया जाने वाले अक्षय तृतीया का पर्व इस बार खास तौर लाभकारी हो सकता है। सनातन धर्म के अनुसार बैसाख की अक्षय तृतीया किस्मत को चमकाने में आपकी मदद करेगी। इस दिन खास संयोग बन रहा है और आप मां लक्ष्मी की पूजा से अपने जीवन को भी खास बना सकते हैं। इस खास संयोग में पूजा करने से आपका जीवन हर प्रकार की सुख-सुविधाओं से परिपूर्ण होता है।

1.मान्यताओं के हिसाब से अक्षय तृतीया के दिन दान करने का भी खास महत्व माना गया है दान करने से आपको पुण्य फल प्राप्त करने में सहायता मिलती है।

2.वैसे तो अक्षय तृतीया के दिन सोने की ख़रीददारी करनी शुभ मानी गई है और कहा जाता है कि इसके परिणाम स्वरूप आपका पूरा जीवन मां लक्ष्मी की कृपा से लाभान्वित होता है।

3.सोने के अलावा चाँदी के आभूषण खरीदने का भी खास महत्व है जिससे आपके घर में हमेशा बरकत रहती है और दरिद्रता का नाश होता है।

4.मां लक्ष्मी की चरण पादुका खरीदने की महत्व है इस दिन चरण पादुका घर में लाकर रखें और नियमित इनकी पूजा करें आप हमेशा के लिए परेशानियों से मुक्त होंगे।

5.इस दिन ब्राह्मण को खड़ाऊं, वस्त्र, फल आदी सामान का दान करने से विशेष लाभ मिलता है और ऐसा करने से पितरों की आत्मा की शांति होती है।

जीवन की हर बाधा को करना है दूर, तो सूर्य देव की पूजा में करें ये उपाय जल्द होगा फायदा

6.अक्षय तृतीया का दिन कोई भी शुभ कार्य बिना सोचे-समझे करने का दिन होता है इसलिए इस दिन शादी-विवाह, घर का मूहूर्त सभी प्रकार की शुभ काम करें और ये काम बिना रूकावट के संपन्न भी होते हैं।

7.वहीं कहा जा रहा है कि इस बार अक्षय तृतीया के दिन बहुत ही शुभ संयोग रहने वाला है और यह संयोग ज्योतिष के हिसाब से भी फ़ायदेमंद साबित हो सकता है।

8.ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से माना जाता है कि अक्षय तृतीया का दिन भाग्य को चमकाने के लिए खास तौर पर महत्वपूर्ण होता है इसलिए इस दिन खरीदी गई चीज़ें समृद्धि प्रदान करने में सहायक होती हैं।

9.वैदिक ग्रंथों के हिसाब से माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन से ही त्रेता युग की शुरूआत हुई थी तो इस दिन सृष्टि को रचने वाले भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए।

10.अक्षय तृतीया के दिन भगवान विष्णु के परशुराम अवतार का भी धरती पर अवतार हुआ इसलिए यह दिन भगवान परशुराम के जन्मदिन के तौर पर भी मनाया जाता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned