पितृ पक्ष 2018 श्राद्ध पक्ष के आखिरी दिन करें ये उपाय, दूर होंगे कुंडली के सारे दोष

पितृ पक्ष 2018 श्राद्ध पक्ष के आखिरी दिन करें ये उपाय, दूर होंगे कुंडली के सारे दोष

Soma Roy | Publish: Oct, 08 2018 12:45:35 PM (IST) दस का दम

पितृ पक्ष पर पीपल के पेड़ के पास सरसों के तेल का दीया जलाएं, साथ ही सूखा नारियल रखें

नई दिल्ली। जिन लोगों के पूर्वज प्रसन्न नहीं होते हैं ऐसे लोगों की कुंडली में पितृ दोष होता है। जिसके चलते जातक को जीवन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अगर आप भी इन्हीं में से एक हैं तो इस सर्वपितृ अमावस्या को ये खास उपाय करके आप इससे छुटकारा पा सकते हैं।

1.जिन लोगों की कुंडली में पितृ दोष है उन्हें इससे छुटकारा पाने के लिए पितृ अमावस्या के दिन एक सूखा नारियल लेकर उस पर अपनी लंबाई के बराबर का लाल धागा बांधें।

2.नारियल पर धागा बांधने से पहले इसका ऊपरी हिस्सा काटकर उसमें चीनी भर दें। इसके बाद कटे हुए हिस्से को रखकर धागा लपेटें। अब इसे पीपल के पेड़ के पास जमीन में गाड़ दें।

3.नारियल को जमीन के अंदर दबाते समय कटा हुआ हिस्सा ऊपर की ओर रखें। साथ ही नारियल को जमीन में इस तरह रखें कि इसका थोड़ा-सा हिस्सा दिखाई दें।

4.अब नारियल के पास एक मिट्टी के पात्र में पानी भरकर रखें। इस दौरान हाथ जोड़कर पितरों का ध्यान करके उनका आवाहन करें। ऐसा करने से पितृ खुश होंगे और आपको आशीर्वाद देंगे।

5.नारियल का ये उपाय आपको सूरज ढ़लने से पहले करना होगा। चूंकि पितृ अमावस्या सोमवार के साथ मंगलवार को भी पड़ रही है इसलिए शाम के समय शिव जी और बजरंगबली के दर्शन करना शुभ होगा। इससे व्यक्ति की सारी मनोकमानाएं पूरी होंगी।

6.नारियल के अलावा पितृ अमावस्या पर रोटी का किया गया उपाय भी बहुत कारगर साबित होता है। इसके तहत आप रोटी बनाते समय पहली रोटी अलग रख लें। अब इसे तोड़कर इसके चार हिस्से कर लें। इस पर गुड़, चीनी व कोई अन्य मीठी चीज रख दें।

7.अब रोटी के पहले टुकड़े को गाय को खिला दें। जबकि दूसरा निवाला कुत्ते को, तसीरा कौवे को, चौथा गाय को और पांचवा किसी जरूरतमंद व ब्राम्हण को खिला दें। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि आएगी और धन की बढ़ोत्तरी होगी।

8.आप चाहे तो रोटी के आखिरी टुकड़े को रात में किसी चौराहे पर भी रख सकते हैं। ध्यान रहे कि ऐसा करते समय आपको कोई देखे न और इस उपाय को करने के बाद आप खुद भी इसे पलट कर न देखें। ऐसा करने से आपकी कुंडली में मौजूद सारे दोष दूर हो जाएंगे।

9.पितृ दोष निवारण के लिए सर्वपितृ अमावस्या के दिन खीर बनाएं। अब इसका एक हिस्सा शिव जी को अर्पित करें। जबकि इसका दूसरा भाग पीपल के पेड़ के नीचे रख दें। इससे पितृ गढ़ प्रसन्न होंगे और आप पर उनकी असीम कृपा होगी।

10.सारे दोषों से छुटकारा पाने के लिए अमावस्या को ब्राम्हण भोज अवश्य कराएं। आप चाहे तो एक, पांच एवं ग्यारह ब्राम्हणों को भोजन करा सकते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned